सीरीज जीत के लिए भारत को 8 विकेट एवं द. अफ्रीका को 111 रनों की जरूरत

सीरीज जीत के लिए भारत को 8 विकेट एवं द. अफ्रीका को 111 रनों की जरूरत
Share

केपटाउन (एजेंसी)।  केप टाउन टेस्ट रोमांचक मोड़ पर पहुंच गया है। भारत के 212 रन के लक्ष्य के जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक दो विकेट पर 101 रन बना लिए हैं। मैदान पर आज खूब ड्रामा देखने को मिला। एल्गर को शुरूआत में एल्बीडब्ल्यू आउट दिया गया था, लेकिन रिव्यू में वह बच गए और अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा।

इसके बाद दिन के आखिरी ओवर में बुमराह की गेंद पर उनका बल्ला लगा, लेकिन फील्ड अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दिया। इसके बाद विकेटकीपर पंत के कहने पर कप्तान कोहली ने रिव्यू लिया। रिव्यू में दिखा कि गेंद एल्गर के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर तक पहुंची थी। इसके बाद फील्ड अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा और एल्गर आउट हुए। इसके बाद अंपायर ने स्टंप्स की घोषणा की। फिलहाल कीगन पीटरसन 48 रन बनाकर नाबाद हैं।

भारतीय टीम अपनी दूसरी पारी में 198 रन पर ऑलआउट हो गई थी।  भारत ने पहली बार किसी टेस्ट मैच में अपने सभी 20 विकेट कैच आउट के रूप में गंवाए हैं।

टीम के लिए ऋषभ पंत ने सबसे ज्यादा 100 रन बनाए और नाबाद रहे। यह उनके टेस्ट करियर का चौथा शतक रहा। भारत ने पहली पारी में 223 रन बनाए थे। जवाब में दक्षिण अफ्रीकी पारी 210 रन पर सिमट गई। दूसरी पारी में भारतीय टीम 13 रन के लीड के साथ उतरी थी। इस तरह भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 212 रन का लक्ष्य रखा। भारत के बल्लेबाज दूसरी पारी में पूरी तरह फ्लॉप रहे । भारत के 9 बल्लेबाजों ने मिलकर मात्र 70 रन ही बना पाए। ऋषभ के 100 एवं 28 अतिरिक्त रनों की बदौलत द.अफ्रीका को 212 रनों का मामूली लक्ष्य मिला।

पुजारा-रहाणे फिर फेल : तीसरे दिन की शुरूआत टीम इंडिया के लिए खराब रही और दिन की दूसरी ही गेंद पर चेतेश्वर पुजारा 9 रन बनाकर मार्को जेन्सन की गेंद पर आउट हुए। लेग गली पर कीगन पीटरसन ने पुजारा का बहुत ही कमाल का कैच पकड़ा। अगले ही ओवर में अजिंक्य रहाणे भी 1 रन बनाकर अपनी विकेट गंवा बैठे।

58 रन पर चार विकेट गिरने के बाद कप्तान विराट कोहली और ऋषभ पंत ने पारी संभाली और भारत को 150 के पार पहुंचाया। दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 94 रन की साझेदारी हुई। कोहली 143 गेंदों पर 29 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद अश्विन और शार्दुल ठाकुर कुछ खास नहीं कर सके। अश्विन सात रन और शार्दुल पांच रन बनाकर पवेलियन लौटे।

अश्विन को एनगिडी ने जेन्सन के हाथों कैच कराया। इसके बाद एनगिडी ने शार्दुल को वेरेन के हाथों कैच कराया।  उमेश यादव शून्य पर पवेलियन लौटे। उन्हें रबाडा ने वेरेन के हाथों कैच कराया। नौ विकेट गिर जाने के बाद पंत ने बुमराह को स्ट्राइक नहीं दिया और ज्यादातर खुद ही स्ट्राइकर्स एंड पर रहे और शतक जड़ा।

पंत दक्षिण अफ्रीका में शतक लगाने वाले पहले एशियाई विकेटकीपर भी बन गए। महेंद्र सिंह धोनी और कुमार संगकारा भी अफ्रीकी मैदान पर कभी शतक नहीं लगा पाए। धोनी का दक्षिण अफ्रीका में उच्चतम स्कोर 90 रन और संगकारा का 89 रन था।

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 10 महीने बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाया है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में करियर की चौथी सेंचुरी लगाई। पिछली सेंचुरी पंत ने मार्च 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ लगाई थी। इसके अलावा वह सिडनी के मैदान पर 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगा चुके हैं। वहीं, पहला शतक पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ 2018 में केनिंग्टन ओवल में लगाया था।

212 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम ने 23 रन पर अपना पहला विकेट गंवाया। एडेन मार्करम 16 रन बनाकर शमी की गेंद पर राहुल को कैच थमा बैठे। वहीं, डीन एल्गर 96 गेंदों पर 30 रन बनाकर आउट हुए।


Share