खेरवाड़ा के 8 लोगों की बिहार में मौत, लोहे के पाइप से भरे ट्रक के नीचे दबे, 5 की हालत नाजुक

खेरवाड़ा के 8 लोगों की बिहार में मौत, लोहे के पाइप से भरे ट्रक के नीचे दबे, 5 की हालत नाजुक
Share

पटना (एजेंसी)। सुबह-सुबह हुए भीषण सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई। कई अन्य की हालत नाजुक बनी हुई है। बिहार के पूर्णिया जिले में हुए सड़क हादसे राजस्थान के 8 मजदूरों की मौत हो गई। सभी मजदूर उदयपुर के खेरवाड़ा क्षेत्र के रहने वाले थे। हादसा सोमवार सुबह 5 बजे जलालगढ़ के सीमाकाली मंदिर के पास हुआ, जहां एनएच-57 पर पाइप से लदा ट्रक पलट गया। इसमें एक दर्जन लोग थे। 8 लोगों की मौत के साथ ही 5 लोगों की हालात नाजुक बनी हुई है।

दरअसल, ट्रक पलटते ही लोहे के पानी के पाइपों के नीचे सभी मजदूर दब गए। इससे उनकी मौत हो गई। ट्रक सिलीगुड़ी से जम्मू कश्मीर जा रहा था। तेज गति में होने के दौरान ही चालक को झपकी आने से हादसा हुआ। सभी लोग ट्रक में भरे लोहे के पाइपों पर ही बैठे हुए थे।

उदयपुर निवासी प्रकाश परमार ने बताया कि ट्रक त्रिपुरा के अगरतला से जम्मू कश्मीर बोरवेल के काम से पाइप लेकर जा रही थी। एनएच 57 पर ड्राइवर को झपकी आ गई, जिससे ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गई। मेरी नींद खुली तो देखा अन्य मेरे पापा और चाचा समेत अन्य साथ पाइप के नीचे दबे थे। उनके पास गया तो पता चला कि दोनों की सांसे थम चुकी थीं। कुल 8 लोगों की लाशें पड़ी हुई थी। मैं सन्न रह गया। कुछ देर बाद अन्य साथियों ने संभाला। ड्राइवर बुरी तरह से दब गया था जिसे मैं किसी तरह खींच कर निकाला खींच कर निकाला। मेरे साथ अन्य 2 लोग यूपी के हैं, जिसे हल्की चोट आई है।

जम्मू कश्मीर जा रहे थे सभी

वहीं ट्रक पर सवार 18 वर्षीय भीखालाल ने बताया कि हम लोग ट्रक के ऊपर पाइप पर बिस्तर लगा कर सो रहे थे कि अचानक ट्रक पलट गई, जिसमें मैं साइड में सोया हुआ था। इसके कारण दूर जाकर गिरा जिससे मुझे चोट भी लगी लेकिन जब तक मैं उठकर देखता तो सभी लोग लोहे से दब गए थे। मैं राजस्थान से डेढ़ महीने पहले बोरवेल का काम करने त्रिपुरा के अगरतल्ला आया था। बोरवेल के काम से ही जम्मू कश्मीर जा रहा था। रास्ते में यह घटना हुई। मरने वाले में से एक मेरे गांव से था।

पाइप के ऊपर सो रहे थे

वहीं एक अन्य मजदूर (राजस्थान के रोशन लाल) ने बताया कि हमलोग पाइप के ऊपर सो रहे थे। ट्रक ड्राइवर को नींद आ गई या क्या हुआ मुझे पता नहीं… अचानक ट्रक पलट गई। ट्रक के पास गिरने के कारण में पाइप के सहारे बीचों-बीच 10 मीटर तक घसीटता चला गया। कुछ देर तक रोड पर ही पड़ा रहा। शरीर जख्मी हो गया था। दर्द से कराह रहा था। कुछ देर बाद हिम्मत जुटाई और किसी तरह बाहर निकला। बाद में यहां के स्थानीय लोग पहुंचे और मदद की।

स्थानीय लोगों ने की मदद : हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस और स्थानीय लोग राहत और बचाव के लिए पहुंचे। क्रेन की मदद से ट्रक को सीधा किया गया। शवों की शिनाख्त की कोशिश की गई। शवों को नजदीकी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए रखवाया गया है।

खेरवाड़ा विधायक ने घायल से की बात : खेरवाड़ा विधायक डॉ. दयाराम परमार ने सड़क हादसे में घायल हुए प्रकाश से तीन बार मोबाइल से बात कर दुर्घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद जिला कलक्टर उदयपुर तारचन्द मीणा से बात कर बताया कि जो हादसा हुआ है, वह बहुत दूर है । इसलिए लाशों को खेरवाड़ा लाने की व्यवस्था सरकार करें  का आग्रह किया। जिला कलक्टर ने डॉ. परमार को बताया कि मैंने जिला कलक्टर पूर्णिया से बात की है तथा लाशों को शीघ्र खेरवाड़ा लाने का आश्वासन दिया।

इनकी हुई मौत : मृतकों में ईश्वरलाल, बसुलाल, कावाराम, कांतिलाल, हरीश, मणिलाल, दुष्यंत, अश्विन है। इनमें 4 मृतक खेरवाड़ा उपखंड के सरेरा, महुवाल, मालीफला गांव के रहने वाले हैं। वही 4 ऋषभदेव उपखंड के पांचा पाडला, सागवाड़ा पाल स्थित पटेलाफला व कातरवास गांव के रहने वाले थे। मौके पर घायल हुए 3 जने भी इसी क्षेत्र के हैं।


Share