कोरोना से 77′ युवकों ने खो दी अपनी आय

कोरोना से 77' युवकों ने खो दी अपनी आय
Share

-सर्वेक्षण में सामने आए आंकड़े

नई दिल्ली (एजेंसी)। 2020 एक चुनौतीपूर्ण साल रहा, जिसके बारे में कोई भी भविष्यवाणी नहीं कर सकता था कि यह कैसा होगा। कोविड -19 महामारी के प्रकोप एक आर्थिक स्वास्थ्य संकट से आगे बढ़ गया था। महामारी ने वैश्चिक स्तर पर आर्थिक आघात पहुंचाया।

भारत में कोविड -19 महामारी के आर्थिक प्रभाव, आर्थिक गतिविधियों में कमी के बाद इसका प्रभाव व्यवसायों पर भी पड़ा, कई व्यवसाय बंद हो गए और उन्हें अपने संचालन को बंद करना पड़ा। इसके परिणामस्वरूप बेरोजगारी में तेज वृद्धि हुई जिससे कई परिवार प्रभावित हुए।

नवंबर 2020 में भारतीय बाजार पर कोविड -19 महामारी के वित्तीय प्रभाव को समझने के लिए एक सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण में 1,700 से अधिक वयस्कों ने भाग लिया। सर्वेक्षण में पाया गया कि भारत में 77′ व्यस्कों ने आर्थिक रूप से आय खो दी थी और बेरोजगार हो गए।

निष्कर्षों के अनुसार, 40 वर्ष की आयु वाले लोग सबसे अधिक प्रभावित आयु वर्ग के वयस्क थे। महामारी के परिणामस्वरूप 40 साल के बेरोजगार होने वालों में 80′ से अधिक वयस्क शामिल थे। हालांकि, उनमें से 73′ अभी भी बेरोजगार हैं। 70 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के लोग सबसे कम प्रभावित हुए। इनमें  केवल 30′ लोगों ने महामारी के कारण आय खोई।

सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, पुरूषों को महिलाओं की तुलना में अधिक प्रभावित किया गया। सिर्फ 78′ पुरूषों ने आय खोने की सूचना दी, जबकि 67′ महिलाओं ने आय खो दी। सर्वेक्षण में यह भी पता चला कि जो वयस्क तलाकशुदा थे, वे इससे काफी प्रभावित थे।


Share