दुनिया में 70% लोगों को हो सकता है कोरोना

कोरोना से तीन की मौत
Share

पेइचिंग (एजेंसी)। चीन के सांस से संबंधित बीमारियों के नामचीन विशेषज्ञ झोंग नानशान ने आगाह किया है कि अगर कोरोना वायरस को फैलने से रोका नहीं गया तो दुनिया की कुल आबादी का 60 से 70 फीसदी हिस्सा (करीब 4 अरब लोग) इसकी चपेट में आ जाएगा। इनमें से 6.95 प्रतिशत लोगों की कोरोना वायरस महामारी से मौत हो जाएगी। नानशान ने कहा कि इस महामारी को रोकने के लिए पूरी दुनिया में व्यापक पैमाने पर टीका लगाना होगा।

शुक्रवार को एक ऑनलाइन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉक्टर नानशान ने कहा कि हर्ड इम्युनिटी को व्यापक पैमाने पर टीकाकरण करके हासिल किया जाना चाहिए। अगर इस कोरोना महामारी को काबू में करने के लिए कदम नहीं उठाए गए तो दुनिया की कुल आबादी का करीब 60 से 70 फीसदी हिस्सा इसकी चपेट में आ जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस महामारी इस सदियों और अगले साल बसंत के मौसम तक जारी रह सकती है।

‘सामूहिक टीकाकरण में एक से दो साल लगेंगे’

डॉक्टर नानशान ने कहा कि दुनियाभर में सामूहिक टीकाकरण में एक से दो साल लगेंगे और इसमें वैश्विक सहयोग की जरूरत होगी। वहीं चीन के एक अन्य कोरोना वैक्सीन की शोधकर्ता चेन वेई ने कहा कि कोरोना वायरस में आ रहे ताजा बदलाव से शोध पर कोई असर नहीं पड़ा है। चीन जल्द ही 55 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए क्लिनिकल ट्रायल शुरू करने जा रहा है।

बता दें कि चीनी विशेषज्ञ ने यह चेतावनी ऐसे समय पर दी है जब दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 3 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है। अब तक इस महामारी से 9,50,636 लोग दुनियाभर में मारे गए हैं। कोरोना से निपटने के लिए दुनियाभर में वैज्ञानिक बहुत तेजी से वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। चीन की चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप ने अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन को सुरक्षित और प्रभावी बताया है।


Share