5वें दौर की बातचीत भी विफल, 9 को फिर होगी मीटिंग

5वें दौर की बातचीत भी विफल, 9 को फिर होगी मीटिंग
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा खत्म हो गई। अब 9 दिसंबर को केंद्र सरकार और प्रदर्शनकारी किसानों के प्रतिनिधियों के बीच फिर से बातचीत होगी। शनिवार को किसानों ने केंद्र सरकार से दो टूक कह दिया कि उनके पास राशन-पानी की कोई कमी नहीं है, इसलिए वो अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर डटे रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वो प्रदर्शन के दौरान हिंसा का रास्ता अख्तियार नहीं करेंगे, लेकिन मांगें माने जाने तक संघर्ष जारी रहेगा।

राज्यों से संपर्क कर प्रपोजल तैयार करेगा केंद्र

दरअसल, सरकार ने किसानों के साथ सुलह की दिशा में शनिवार की बातचीत में एक और कदम बढ़ाया है। सरकार ने कहा है कि वह राज्यों से परामर्श कर एक प्रस्ताव किसानों के पास भेजेगी। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बताया कि मीटिंग के दौरान केंद्र सरकार ने कहा कि वह इस मसले पर राज्यों से भी संपर्क करना चाहती है।


Share