Monday , 24 February 2020
Top Headlines:
Home » Jaipur » 503 वादों में से 119 किए पूरे

503 वादों में से 119 किए पूरे

केन्द्र ने राज्य को 11 हजार करोड़ कम दिए, पर खर्चों में कटौती कर वादे पूरे करने के होंगे प्रयास
अफसरों को चेतावनी : जनता के कामों में उदासीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी
गहलोत सरकार की पहली वर्षगांठ मुख्यमंत्री का दावा
जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।
राज्य की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार का सोमवार को एक वर्ष का कार्यकाल पूरा हो गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि जनता ने जो आशा राज्य की सरकार से की थी। उस पर खरे उतरे हैं। यही वजह है कि सालभर में जो भी चुनाव और उप चुनाव हुए, उन सभी में कांग्रेस पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन किया है। सरकार के काम जनता को पसंद आ रहे हैं। जनता से जो भी वादे किए हैं उन्हें आगामी 4 साल में पूरा करेंगे। जनता से सरकार ने 503 वादे किए थे। उनमें से अब तक 119 वादे पूरे किए जा चुके हैं।
मुख्यमंत्री गहलोत सोमवार को सिविल लाइंस स्थित मुख्यमंत्री निवास पर मीडिया से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा उनके जीवन का एक ही उद्देश्य है। जनता की सेवा करना। उसमें वे कभी पीछे नहीं रहेंगे। उनकी इच्छा है कि जनता के काम जिलों में ही पूरे हो जाने चाहिए। इससे लोगों को जयपुर आने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। इसलिए हाल ही जिला कलक्टरों की कांफ्रेंस ली थी। इसमें काम में उदासीनता बरतने पर 9 अधिकारियों को निलम्बित किया गया है। अब यह कांफ्रेस हर माह ली जाएगी।
पुलिस के कामकाज और व्यवहार को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस के बर्ताव को लेकर हमेशा शिकायतें आती रहती है। अच्छा बर्ताव नहीं होने से कई लोग थाने में मुकदमा दर्ज कराने ही नहीं जाते। लेकिन अब थानों में रिसेप्शन बनाए जा रहे हैं। जहां आमजन अपना मुकदमा आराम से बैठकर दर्ज करा सकेंगे। उनके साथ अच्छा व्यवहार हो। पुलिस थाने में मामले दर्ज नहीं करने पर मामला एसपी आफिस में दर्ज कराया जा सकता है।
प्रदेश के आर्थिक हालात को लेकर कहा कि केन्द्र सरकार राज्य के हिस्से की राशि में लगातार कटौती कर रही है। अब तक तमाम योजना में 11 हजार करोड़ की कटौती की जा चुकी है। वैसे केन्द्र की मदद के बिना राज्यों में हर काम कर पाना संभव नहीं है। लेकिन फिर भी राज्य सरकार अपने खर्चों में कमी कर जनता से किए हर वादे को पूरा करने में पीछे नहीं रहेगी। इसके लिए राज्य की आय को भी बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य को कुछ साल पहले तक क्रूड ऑयल से आय हो रही थी। वो अब नहीं हो रही। क्रूड के दाम पहले के मुकाबले काफी कम है। इससे भी परेशानी बढ़ी है।
प्रदेश में पोटास के खनन को लेकर कहा कि अभी फिलहाल इसका खनन संभव नहीं है। इसकी खोज पर ही 1000 करोड़ खर्च होंगे। निजी एजेंसियों के जरिए यह काम कराया जाना है। उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल में किए मेट्रो और एलीवेटेड रोड के कार्यों को लेकर कहा कि हमारे कामों को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मजाक कमियां गिनाई थी। लेकिन इनके द्रव्यवती प्रोजेक्ट के हालात तो सभी को पता होंगे। मेट्रो के दूसरे फेज को लेकर कहा कि इस पर फिलहाल विचार चल रहा है।
नागरिकता बिल के बारे में गहलोत ने कहा कि इसे छह-सात राज्य रिजेक्ट कर चुके हैं। केंद्र को इस कानून को निरस्त कर देना चाहिए। मैंने अधिकारियों से कहा है कि वे चौकस रहें इसको लेकर राज्य में माहौल न बिगड़े। आर्थिक स्थिति पर गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार ने अमेरिका से कहा कि देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू में जा चुकी है। डॉ मनमोहन सिंह जी कह रहे हैं की सामाजिक ताना-बाना खत्म हुआ है। देश में, भय का माहौल है, हिंसा का माहौल है, अविश्वास का माहौल है। सामाजिक नेटवर्क कमजोर हुआ है उसके कारण भी जीडीपी गिर रही है।
राहुल बजाज क्या बोले वह पूरा देश सुन रहा था, रघुराम राजन जी ने क्या कहा आरबीआई गवर्नर ने जिनको इस्तीफा देना पड़ा, खुद इस्तीफा देकर चले गए उन्होंने कहा पूरा सेंट्रलाइजेशन पीएमओ कर चुका है इसलिए अर्थव्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है।

गहलोत ने कहा कि पीएमओ ही इनकम टैक्स के माध्यम से तय करता है किसके खिलाफ क्या कार्रवाई करनी है, कहां छापे डालने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*