प्राइवेट लेब में 500 रू. में होगा कोरोना टेस्ट

16 जनवरी को टीकाकरण अभियान को शुरू
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। अशोक गहलोत सरकार एक बार फिर प्राइवेट लैब में कोरोना की टेस्ट रेट (जांच दर) को कम करने की तैयारी कर रही है। सरकार अब इस टेस्ट की रेट को 800 रूपए से घटाकर 500 रूपए करने के निर्देश दिए है। इसके अलावा, सरकार निजी अस्पतालों में कोविड के लिए आरक्षित बिस्तरों की संख्या को भी कम करने के निर्देश दिए है।

इससे पहले सरकार ने नवंबर के आखिरी में कोरोना की टेस्ट रेटों को 1200 रूपए से कम करके 800 रूपए की थी। संभवत: यह चौथी बार है जब आरटी-पीसीआर टेस्ट की रेट को कम किया जा रहा है। इससे पहले जुलाई, सितंबर और नवंबर में भी आरटी-पीसीआर टेस्ट की रेटों को कम किया था।

बता दें कि राजस्थान में जब कोरोना के मामले सामने आए थे तब इसकी जांच के लिए प्राइवेट लैब में 4500 रूपए देने पड़ते थे, लेकिन इसके बाद इसे कम करके 2200 रूपए, फिर 1200, उसके बाद 800 रूपए कर दिए। इसके बाद अब 500 रूपए करने के निर्देश दिए है।

वहीं सूत्रों की मानें तो अब 100 बेड्स से ज्यादा क्षमता वाले निजी अस्पतालों में कोविड के लिए 30 प्रतिशत रिजर्व बेड्स की संख्या को कम करके इसे 10′ तक करने के आदेश दिए है।


Share