अरूणाचल के 5 युवकों को चीनी सेना ने भारत को सौंपा

अरूणाचल के 5 युवकों को चीनी सेना ने भारत को सौंपा
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। अरूणाचल प्रदेश से लापता हुए पांचों भारतीय नागरिक चीनी सेना ने भारतीय सेना को सौंप दिए। उनकी 12 दिन बाद वापसी हुई। सेना ने बताया कि हैंडओवर की यह कार्रवाई चीनी सीमा में हुई। करीब एक घंटे तक कागजी कार्रवाई चली। अब इन्हें कोरोना प्रोटोकॉल के तहत 14 दिन के लिए क्वारैंटाइन कर दिया गया है। इसके बाद इन्हें इनके परिवार को सौंपा जाएगा।

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने शुक्रवार को पांचों युवकों के भारत लौटने की बात कही थी। उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि चीन से युवाओं को छोडऩे के लिए सहमति बन गई है। शुक्रवार को किसी भी समय इन युवाओं की वापसी हो जाएगी।

1 सितंबर को लापता हुए थे पांचों युवक

ये पांचों युवक 1 सितंबर को लापता हुए थे। इसके बाद से इनकी तलाश जारी थी। 6 सितंबर को भारतीय सेना ने हॉटलाइन के जरिए संपर्क किया और इनके बारे में जानकारी मांगी। 8 सितंबर को हॉटलाइन पर ही चीन ने इन युवकों के अपनी सीमा में होने की पुष्टि की। फिर भारत ने चीन से डिप्लोमैटिक और सेना के जरिए इन युवाओं की वापसी की कोशिश शुरू कर दी।

एलआरआरपी दल के साथ कुली का काम कर रहे थे युवक

पांचों युवकों के परिजन ने बताया था कि ये लोग मैकमोहन लाइन की पेट्रोलिंग कर रहे जवानों, यानी लॉन्ग रेंज रिकॉन्सन्स पेट्रोल यानी (एलआरआरपी) के लिए जरूरी सामान ढोने का काम कर रहे थे। पोर्टर्स के तौर पर इन्हें निगरानी दल में शामिल किया गया था। इनकी उम्र 18 से 20 साल के बीच है। परिजन को आशंका थी कि ये युवक पहाड़ी में पारंपरिक जड़ी-बूटियां ढूंढने के दौरान निगरानी दल से अलग होकर भटक गए हों।


Share