वैक्सीन लगवा कर 40 करोड़ लोग बन गए ‘बाहुबली’

बच्चों के लिए आ गई वैक्सीन, फाइजर ने कहा- 100% असरदार
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मानसून सत्र में हिस्सा लेने के लिए सोमवार सुबह संसद पहुंचे। इस दौरान प्र.म. मोदी ने पत्रकारों से कोरोना महामारी, वैक्सीन और संसद सत्र को लेकर बात की। प्र.म. ने कहा कि टीका बाहु (बांह) में लगाया जाता है, जो इसे लेता है वह ‘बाहुबलीÓ बन जाता है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 40 करोड़ से ज्यादा लोग ‘बाहुबलीÓ बन गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आप भी वैक्सीन लगवा कर बाहुबली बनें। प्र.म. ने कहा कि सभी माननीय तीखे से तीखे सवाल पूछें ताकि जनता को उसके सवालों का जवाब मिल सके। साथ ही अपील की कि धारदार सवाल पूछें, लेकिन सरकार को जवाब देने का मौका भी दें।

प्रधानमंत्री मोदी ने टीका लगाने वालों को ‘बाहुबलीÓ करार दिया और कहा कि अब तक 40 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है और आगे भी यह सिलसिला तेज गति से जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना ऐसी महामारी है, जिसकी चपेट में पूरा विश्व और मानव जाति है। हम चाहते हैं कि इस संदर्भ में संसद में सार्थक चर्चा हो और प्राथमिकता के आधार पर हो। सारे सांसद का सुझाव भी मिले। इससे कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बहुत नयापन भी आ सकता है और यदि कमियां रह गई हो तो उन्हें ठीक भी किया जा सकता है।

रिकवरी दर बढ़कर 97.32’

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 38,164 नये मामले सामने आये हैं और इस संक्रमण से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या अधिक रहने से रिकवरी दर बढ़कर 97.32 फीसदी हो गई है। इस बीच रविवार को 1363123 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। देश में अब तक 40 करोड़ 64 लाख 81 हजार 493 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना के 38,164 नये मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर तीन करोड़ 11 लाख 44 हजार 229 हो गया है। इस दौरान 38660 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद इस महामारी को मात देने वालों की कुल संख्या बढ़कर तीन करोड़ तीन लाख आठ हजार 456 हो गयी है। सक्रिय मामले 995 घटकर 421665 हो गये हैं। इसी अवधि में 499 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 414108 हो गया है। देश में सक्रिय मामलों की दर घटकर 1.35 फीसदी, रिकवरी दर बढ़कर 97.32 फीसदी और मृत्यु दर 1.33 फीसदी है।


Share