मतदान के दौरान 4 की गोली लगने से मौत

मोदी ने ममता को खूब सुनाया- 'दीदी को मेरे मंदिर जाने पर भी गुस्सा आता है'
Share

कोलकाता (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल  में चौथे चरण के चुनाव के दौरान केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की कथित गोलीबारी के दौरान चार लोगों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार यह घटना कूचबिहार जिला स्थित सिताल्कुची  विधानसभान्तर्गत माथाभंगा ब्लॉक के जोरपाटकी इलाके में हुआ।

वहीं टीएमसी नेता डोला सेना ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया कि केंद्रीय बलों ने दो जगह फायरिंग की। पहला कूचबिहार में माथाभंगा के ब्लॉक-1 में, जहां एक व्यक्ति की मौत हो गई, तीन अन्य घायल हुए। जबकि सितलकुची ब्लॉक में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि एक व्यक्ति घायल हो गया।  सेन ने इसके साथ ही केंद्रीय सुरक्षाबलों पर लोगों पर अत्याचार का आरोप लगाया। दूसरी ओर सितलकुची मामले में सीआरपीएफ ने अपना पक्ष रखा है। एक बयान में सीआरपीएफ ने कहा, कूच बिहार स्थित सितलकुची विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के जोरापाटकी में बूथ संख्या 126 के बाहर सीआरपीएफ को उक्त बूथ पर न तो तैनात किया गया था और न ही उक्त घटना में वह शामिल है।

टीएमसी का दावा- मारे गए चार लोग उसके समर्थक

इस घटना के बाद टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने ट्वीट कर आयोग पर निशाना साधा और कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा, कूचबिहार में सीआरपीएफ ने गोलाबारी की जिसमें 4 ग्रामीणों की मौत हो गई। आपकी निगरानी में यह होता है चुनाव आयोग? आप जिम्मेदार हैं।  ऐसा आरोप है कि स्थानीय लोगों ने सीआईएसएफ जवानों की ”राइफलें छीननेÓÓ की कोशिश की।  पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना सीतलकूची में हुई जब मतदान चल रहा था। उन्होंने बताया, प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार एक गांव में अपने ऊपर हमला किए जाने के बाद सीआईएसएफ जवानों की गोलीबारी में चार लोग मारे गए। वहां झड़प हुई और स्थानीय लोगों ने उनका घेराव कर दिया और उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की जिसके  बाद केंद्रीय बलों ने गोलियां चलाई। विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है। टीएमसी ने दावा किया कि मारे गए चार लोग उसके समर्थक थे।

– ‘कार्रवाई का फैसला निर्वाचन आयोग करेगाÓ

यह पूछे जाने पर कि क्या सीआईएसएफ जवानों के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई है, इस पर अधिकारी ने कहा, इसका फैसला निर्वाचन आयोग करेगा। हमारी रिपोर्टों के अनुसार उन्होंने आत्म रक्षा में गोलियां चलाई। एक सूत्र ने बताया कि सीतलकूची के माथाभंगा इलाके में मतदान चलने के दौरान टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प शुरू हो गई। उन्होंने कहा, उनमें से कुछ ने एक मतदान केंद्र के बाहर सीआईएसएफ जवानों का घेराव किया और उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की जिसके बाद यह घटना हुई।


Share