Friday , 18 October 2019
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » 370 हटने के बाद प्र.म. का राष्ट्र के नाम संबोधन

370 हटने के बाद प्र.म. का राष्ट्र के नाम संबोधन

जम्मू कश्मीर, लद्दाख के विकास की बड़ी बाधा अब दूर हो गई
कहा-पटेल, मुखर्जी, अटल जैसे देशभक्तों का सपना पूरा हुआ
नई दिल्ली (एजेंसी)।
संविधान से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के दो दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जो सपना सरदार पटेल, बाबा साहेब आंबेडकर, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वह अब पूरा हुआ है। प्र.म. मोदी ने कहा कि एक राष्ट्र के तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल, आंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे करोड़ों देशभक्तों का सपना था कि अनुच्छेद 370 को खत्म किया जाना चाहिए। आज वह सपना पूरा हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, एक ऐसी व्यवस्था, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे, जो उनके विकास में बड़ी बाधा थी, वह अब दूर हो गई है।अनुच्छेद 370 को स्थायी मान लिया गया था
प्र.म. मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 को स्थायी मान लिया गया था और यह सार्वजनिक धारणा बन गई थी कि कुछ बदलेगा नहीं, ऐसे ही चलेगा। उन्होंने कहा, अनुच्छेद 370 से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहनों की जो हानि हो रही थी, उसकी चर्चा ही नहीं होती थी। हैरानी की बात यह है कि किसी से भी बात करें, तो कोई यह भी नहीं बता पाता था कि अनुच्छेद 370 से जम्मू-कश्मीर के लोगों के जीवन में क्या लाभ हुआ।
हालात सामान्य होने पर पूर्ण राज्य
प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि आने वाले समय में जम्मू-कश्मीर विधानसभा के चुनाव हों, नई सरकार बने, मुख्यमंत्री बने। जम्मू-कश्मीर को सीधे केंद्र के शासन में रखने का फैसला बहुत सोच-समझकर लिया गया है। बीते कुछ महीनों में राज्यपाल शासन का राज्य को फायदा मिला और गुड गवर्नेंस जमीन पर दिखने लगा। हालांकि हालात सुधरने पर जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दे दिया जाएगा। मगर लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश ही रहेगा। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को भरोसा दिलाया कि इस फैसले से वहां के लोगों का वर्तमान तो सुधरेगा ही, भविष्य भी संवरेगा। उन्होंने देशवासियों से नए भारत के साथ-साथ शांत, सुरक्षित और समृद्ध नए जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के निर्माण की अपील की। रोजगार के ज्यादा मौके मिलेंगे
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भी विकास की दौड़ में तेजी से आगे बढ़ेंगे। वहां के लोगों को भी शिक्षा, चिकित्सा और रोजगार के ज्यादा मौके मिलेंगे। प्रधानमंत्री ने यह भी भरोसा दिया कि जल्द ही जम्मू-कश्मीर में विधानसभा के चुनाव होंगे और हालात सामान्य हो जाने पर फिर से उसे पूर्ण राज्य का दर्जा भी दिया जा सकेगा। प्र.म. ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों का सुख-दुख और तकलीफ भी पूरे हिंदुस्तान का है और पूरा देश उनके साथ है। पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनने की अपार क्षमता है और उम्मीद जताई कि वहां बॉलिवुड के साथ-साथ दुनिया भर की फिल्मों की शूटिंग भी एक बार फिर शुरू हो सकेगीपरिवारवाद ने युवाओं को नहीं दिया नेतृत्व का मौका
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को लेकर राष्ट्र के नाम संबोधन में परिवारवाद की राजनीति पर भी निशाना साधा। पीएम ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का अवसर नहीं दिया है। गौरतलब है कि अधिकांश समय राज्य में अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार ही सत्ता में रहा है। पीएम ने कहा, दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का अवसर ही नहीं दिया। अब मेरे युवा, जम्मू-कश्मीर के विकास का नेतृत्व करेंगे और उसे नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। मैं नौजवानों, वहां की बहनों-बेटियों से आग्रह करूंगा कि अपने क्षेत्र के विकास की कमान खुद संभालिए। उन्होंने कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि जम्मू-कश्मीर की जनता, गुड गवर्नेंस और पारदर्शिता के वातावरण में, नए उत्साह के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेगी। पंचों के अच्छे काम की तारीफ करते हुए प्र.म. ने कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि अब अनुच्छेद 370 हटने के बाद, जब इन पंचायत सदस्यों को नई व्यवस्था में काम करने का मौका मिलेगा तो वो कमाल कर देंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि जम्मू-कश्मीर की जनता अलगाववाद को परास्त करके नई आशाओं के साथ आगे बढ़ेगी।ईद की अग्रिम मुबारकबाद, धीरे-धीरे हालात हो जाएंगे सामान्य
मैं आज जम्मू-कश्मीर के लोगों को भरोसा देता हूं कि धीरे-धीरे हालात सामान्य हो जाएंगे। ईद का मुबारक त्योहार नजदीक है। आपको ईद की मुबारकबाद। जम्मू-कश्मीर के जो लोग राज्य से बाहर हैं और वहां जाना चाहते हैं, उनकी सरकार हर मुमकिन मदद कर रही है। मैं सुरक्षा बलों के साथियों का आभार व्यक्त करता हूं। प्रशासन से जुड़े सभी लोग, राज्य के सभी कर्मचारियों और जम्मू-कश्मीर पुलिस जिस तरह से स्थितियों को संभाल रही है, वह सचमुच में बहुत प्रशंसनीय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*