350 करोड़ की रंगदारी पुलिस के भी उड़े होश

Share

आगरा (एजेंसी)। आगरा में एक सर्राफ से साढ़े 3 अरब की रंगदारी मांगने की बात सुनकर पुलिसवालों के भी होश उड़ गए। आरोपी एक छात्र था जिसने रातोंरात अरबपति होने की चाहत में दोस्त का सिम चोरी करके सर्राफ को धमकी देकर रंगदारी मांग ली। आरोपी सर्राफ की फर्म में काम करने वाले कर्मचारी का बेटा है। पुलिस ने आरोपी छात्र को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।
पुलिस ने बताया कि आरोपी छात्र ने दोस्त के डबल सिम वाले मोबाइल से एक सिम चोरी किया था और फिर सर्राफ को कॉल लगाया था। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से छात्र को पकड़ लिया। पूछथाछ में उसने क्राइम सीन का जो इकबाल किया उसे सुन कर पुलिस वाले भी हैरान रह गए। आगरा के कमला नगर निवासी पीसी चेन के मालिक मनोज गुप्ता को मंगलवार शाम करीब साढ़े सात बजे धमकी भरा फोन कॉल आया था।
पुलिस को था शक- आरोपी पेशेवर नहीं
फोन करने वाले ने 350 करोड़ रू. रंगदारी मांगी। इससे वह बुरी तरह दहशत में आ गए। धमकी देने वाले ने खुद को बड़ा बदमाश बताया था, उसका अंदाज भी डरावना था। मनोज ने कोतवाली पुलिस को बताया। रकम सुनकर पुलिस भी चौंक गई। पुलिस को शक हुआ कि यह काम किसी पेशेवर बदमाश का नहीं है। सीओ कोतवाली चमन सिंह चावड़ा ने बताया कि यह मामला चौंकाने वाला था। फौरन पुलिस ने सर्विलांस टीम को इसके खुलासे के लिए लगाया गया। टीम ने पता किया कि जिस सिम से कॉल की गई, वह नगला देवजीत निवासी राहुल के नाम पर रजिस्टर्ड था। पुलिस राहुल तक पहुंच गई लेकिन उसने इस तरह का कोई कॉल करने से इनकार कर दिया।
सर्विलांस की मदद से पकड़ा गया भरत
सर्विलांस की मदद से यह भी पता चला कि जिस सिम से फोन किया गया था, वह काफी दिन से बंद भी था। सर्विलांस टीम ने बताया कि सिम भरत चौधरी नाम के यूजर के मोबाइल में इस्तेमाल किया गया है और इसे धमकी दिए जाने से पहले रिचार्ज कराया गया था।
पुलिस ने राहुल से भरत चौधरी के बारे में पूछा तो उसने बताया कि भरत उसका दोस्त है और उसने एक दिन उसका मोबाइल लिया था। वो इसे खोलकर देख रहा था। इसी दौरान चोरी से सिम निकालकर ले गया। वह सिम काफी समय से बंद था। पुलिस ने भरत को गुरूवार को पकड़ लिया। उसने कॉल करने की बात कबूल कर ली।
इंटर की परीक्षा पास कर चुका है भरत
पता चला कि 18 साल का भरत चौधरी पीसी चेन के मालिक मनोज गुप्ता की फर्म के कर्मचारी नरोत्तम चौधरी का बेटा है। सीओ ने बताया कि आरोपी नगला देवजीत निवासी भरत इंटरमीडिएट की परीक्षा पास कर चुका है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने अपने पिता से सुना था कि मनोज गुप्ता के पास काफी पैसा है। उसे लगा कि एक फोन करके ही रूपये मिल जाएंगे इसलिए फोन पर धमकी देकर 350 करोड़ की रंगदारी मांग ली।
बदमाशों के अंदाज में दी थी धमकी
भरत ने बताया कि वो कारोबारी से ज्यादा रकम लेना चाहता था। इसलिए कहा था, 10-15 लाख तो शूटरों को देता हूं। इससे कारोबारी डर गए थे। भरत ने बदमाशों के अंदाज में धमकी दी थी। कारोबारी से कहा, जान प्यारी है तो 350 करोड़ का इंतजाम कर लो, किसी तरह की चालाकी नहीं करना। पुलिस को बताया तो ठीक नहीं होगा। जान से हाथ धोना पड़ सकता है। रकम कहां और कब देनी है यह बाद में बताया जाएगा। इसके बाद फोन काट दिया गया।


Share