28 अक्टू., 3 और 7 नव. को वोटिंग, 10 नव. को नतीजे

28 अक्टू., 3 और 7 नव. को वोटिंग, 10 नव. को नतीजे
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। चुनाव आयोग ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। 3 चरणों में चुनाव होंगे। पहले फेज में 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर चुनाव होंगे। इसमें 16 जिले, 31 हजार पोलिंग बूथ होंगे। दूसरे फेज में 3 नवंबर को 94 सीटों पर मतदान होगा। इसमें 17 जिले, 42 हजार पोलिंग बूथ होंगे। तीसरे फेज में 7 नवंबर को 78 सीटों पर वोटिंग होगी। इसमें 15 जिले, 33.5 हजार पोलिंग बूथ होंगे। 10 नवंबर को नतीजे आएंगे।
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि 70 देशों ने चुनाव टाल दिए, लेकिन जैसे-जैसे दिन गुजरते गए न्यू नॉर्मल होता हो गया क्योंकि कोरोना के जल्दी खत्म होने के संकेत नहीं मिले। हम चाहते थे कि लोगों का लोकतांत्रिक अधिकार बना रहे। उनके स्वास्थ्य की भी हमें चिंता करनी थी। यह कोरोना के दौर में देश का ही नहीं, बल्कि दुनिया का पहला सबसे बड़ा चुनाव होने जा रहा है।

हालांकि, इस बार का चुनाव पिछले चुनाव से काफी अलग होने जा रहा है और इसका कारण कोरोना वायरस ही है। कोरोनाकाल में होने जा रहे इस चुनाव में पिछले चुनाव की तरह बड़ी-बड़ी रैलियां, रोड शो, नेताओं का भीड़ के साथ घर-घर जाकर प्रचार करना, ये सब नहीं दिखेगा। पोलिंग बूथ पर भी वोटरों की लंबी-लंबी लाइनें नहीं दिखेंगी, क्योंकि इस बार एक पोलिंग बूथ पर 1500 की बजाय 1000 वोटरों को ही बुलाया जाएगा और यहां भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी होगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि नॉमिनेशन और एफिडेविट ऑनलाइन भी जमा कर सकते हैं। ऑफलाइन प्रक्रिया भी जारी रहेगी। कैंडिडेट जमानत राशि भी ऑनलाइन जमा करा सकते हैं। नॉमिनेशन फाइल करते समय दो ही लोग जा सकते हैं। वाहन भी अधिकतम दो ही होंगे।

घर-घर चुनाव प्रचार की अनुमति होगी, लेकिन कैंडिडेट सहित अधिकतम 5 लोग हो सकते हैं। रोड शो की शर्तों के साथ अनुमति होगी, वाहनों का काफिला 5 गाडिय़ों के बाद ब्रेक होगा। चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल होगा।

राजनीतिक दलों को के लिए यह अनिवार्य होगा कि वे अपने वेबसाइट पर उम्मीदवारों के खिलाफ अपराधिक मामलों की जानकारी दें। इसके अलावा उम्मीदवार को अखबार में भी इसकी जानकारी देनी होगी। सोशल मीडिया के दुरूपयोग पर कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना संक्रमित भी डाल सकेगा वोट

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण क्वारंटाइन में रहने वाले मतदाता या तो पोस्टल बैलट से मतदान कर सकते हैं या फिर वे अंतिम चरण के चुनाव के दिन अपने अपने मतदान केंद्रों में स्वास्थ्य अधिकारियों की देख रेख में मतदान करेंगे। बिहार विधानसभा चुनाव में मतदान एक घंटा अधिक यानी शाम छह बजे तक चलेगा, कोविड-19 रोगी आखिरी घंटे में मतदान कर सकते हैं।


Share