राजस्थान में कोरोना के 2656 नए केस मिले : जयपुर में 1439 पॉजिटिव, चित्तौडग़ढ़ में 90, उदयपुर में 89 जने संक्रमित

2656 new cases of corona found in Rajasthan: 1439 positive in Jaipur, 90 in Chittorgarh, 89 in Udaipur
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में कोरोना के गुरूवार को 2656 केस मिले हैं। हॉट स्पॉट बन चुके जयपुर में सबसे ज्यादा 1439 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जोधपुर, अजमेर, अलवर में भी बड़ी संख्या में केस मिले हैं। बढ़ते संक्रमण के कारण सरकार ने 24-25 जनवरी को होने वाली इन्वेस्टमेंट समिट को भी स्थगित कर दिया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को जोधपुर 360, कोटा 58, अजमेर 87, बीकानेर 82, चित्तौडग़ढ़ 90, उदयपुर 89, अलवर 144, और भरतपुर में 79 केस मिले हैं। ये ऐसे जिले हैं, जहां 50 या उससे ज्यादा केस मिले हैं। इनके अलावा भीलवाड़ा 34, गंगानगर 32, सवाई माधोपुर 29, बाड़मेर 17, सिरोही 15, डूंगरपुर, नागौर, सीकर में 12-12, प्रतापगढ़, टोंक में 11-11, बांसवाड़ा में 10, हनुमानगढ़ 9, झालावाड़ 8, बारां, झुंझुनूं 4-4, चूरू, दौसा, जैसलमेर 2-2 और धौलपुर, करौली में एक-एक केस मिला है। राज्य में आज 404 मरीज रिकवर हुए हैं, जिसमें 240 मरीज जयपुर के हैं। राजस्थान की अब तक की रिपोर्ट देखें तो 9 लाख 63,109 लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। 9 लाख 46,874 लोग रिकवर हो चुके हैं। 8967 लोगों की मौत हो चुकी है।

अगले डेढ़ महीने काफी खतरनाक

मेडिकल हेल्थ डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी वैभव गालरिया ने गुरूवार को बैठक की। साथ ही, कोरोना को लेकर तैयारियों की समीक्षा की। गालरिया ने अगले डेढ़ महीने को खतरनाक बताया। सजग और सतर्क रहने की बात कही। उन्होंने कोरोना के इलाज में काम आने वाली सभी दवाओं, रेमडिसिविर इंजेक्शन और अन्य जीवन रक्षक दवाओं का स्टॉक रखने के निर्देश दिए। साथ ही, उन्होंने आने वाले समय में टेस्टिंग की संख्या एक लाख तक बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पतालों में लगे वेंटिलेटर्स सहित अन्य उपकरणों की मॉक ड्रिल करने के भी निर्देश दिए।

कल से 50% कर्मचारी आएंगे

जयपुर के सरकारी कार्यालयों में 50 फीसदी क्षमता के साथ कर्मचारियों की उपस्थिति होगी। राजस्थान कार्मिक विभाग के सचिव हेमंत गेरा ने आज इसका आदेश जारी किया है। उन्होंने गृह विभाग की गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए हैं। अब 50 फीसदी कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे।


Share