223 सिमटी टीम इंडिया, अफ्रीका की भी खराब शुरूआत

223 limited team India, Africa's bad start too
Share

केपटाउन (एजेंसी)। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा और निर्णायक टेस्ट मैच आज से केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला जा रहा है। भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली के 79 रन और चेतेश्वर पुजारा के 43 रन की बदौलत अपनी पहली पारी में 223 रन बनाए हैं। इसके जवाब में खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत खराब रही है। अफ्रीका की टीम को पहला झटका जसप्रीत बुमराह ने दिया। बुमराह ने कप्तान डीन एल्गर को पवेलियन भेजा। एल्गर ने 16 गेंद में तीन रन बनाए। पहले दिन स्टंप तक एडन मार्करम 8 और केशव महाराज 6 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

इतिहास रचने के इरादे से उतरी भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली की 79 रन की संघर्षपूर्ण और अनुशासित पारी के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन अंतिम सत्र में 223 रन पर सिमट गई। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से अपना 50वां टेस्ट खेल रहे कगिसो रबाडा  ने 22 ओवर में 73 रन पर चार विकेट और मार्को येनसेन ने 18 ओवर में 55 रन पर तीन विकेट लिए।

विराट कोहली ने खेली कप्तानी पारी

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत ने पहले और दूसरे सत्र में दो-दो विकेट गंवाए लेकिन अंतिम सत्र में भारत ने अपने बचे सभी छह विकेट गंवा दिए। अपना 99वां टेस्ट खेल रहे विराट ने अपना 28वां अर्धशतक बनाया। उन्होंने 201 गेंदों पर 79 रन की पारी में 12 चौके और एक छक्का लगाया। विराट ने पुजारा के साथ तीसरे विकेट के लिए 153 गेंदों में 62 और ऋषभ  पंत के साथ पांचवें विकेट के लिए 113 गेंदों में 51 रन जोड़े। पुजारा ने 77 गेंदों में 43 और पंत ने 50 गेंदों पर 27 रन बनाये। भारत ने लंच तक दो विकेट खोकर 75 और चायकाल तक चार विकेट के नुकसान पर 141 रन बनाए। लोकेश राहुल और मयंक अग्रवाल की सलामी जोड़ी के जल्दी आउट होने से टीम को अच्छी शुरुआत नहीं मिल पाई। राहुल और मयंक ज्यादा रन नहीं जोड़ पाए और क्रमश: टीम के 31 और 33 के स्कोर पर आउट हो गए। उप कप्तान राहुल जहां एक चौके के सहारे 35 गेंदों पर 12, वहीं मयंक तीन चौकों की मदद से 35 गेंदों पर 15 रन बना कर आउट हुए।

दोनों बड़े विकेट खोने के बाद कप्तान विराट और अनुभवी चेतेश्वर पुजारा ने पारी को संभाला। लंच तक विराट ने 50 गेंदों पर दो चौकों की मदद से नाबाद 15 रन बनाए, जबकि पुजारा चार चौकों की बदौलत 49 गेंदों पर 26 रन पर खेल रहे थे। दक्षिण अफ्रीका की ओर से तेज गेंदबाजों ने लय बरकरार रखते हुए कसी हुई और घातक गेंदबाजी की। इनफॉर्म तेज गेंदबाजों कैगिसो रबादा और डुआने ओलिवियर ने टीम को दो शुरुआती सफलताएं दिलाईं। 12वें ओवर की दूसरी गेंद पर ओलिवियर ने राहुल को विकेट के पीछे काइल वेरेने के हाथों कैच आउट कराया, जबकि रबादा ने 13वें ओवर की दूसरी गेंद पर मयंक को पवेलियन भेजा। मयंक एडन माक्ररम के हाथों स्लिप में  कैच आउट हुए।

अच्छी शुरुआत न मिलने के बावजूद कप्तान विराट और अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों अच्छा खेल रहे थे और दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए 62 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी भी हो गई थी, लेकिन युवा तेज गेंदबाज मार्को यानसन ने 95 के स्कोर पर पुजारा का विकेट लेकर इस साझेदारी को तोड़ दिया। पुजारा सात चौकों की मदद से 77 गेंदों पर 43 रन बना कर आउट हो गए और एक बार फिर लंबी पारी खेलने से चूक गए। उनके आउट होने के बाद क्रीज पर आए पूर्व उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी एक बार फिर निराश किया। वह 12 गेंदों पर दो चौकों की मदद से नौ रन बना कर आउट हो गए। 116 के स्कोर पर रबादा ने उन्हें अपना शिकार बनाया। पुजारा और रहाणे के कैच विकेटकीपर वेरेने ने लपके। इनफॉर्म और अनुभवी बल्लेबाजों के आउट होने के बाद कप्तान विराट ने मोर्चा संभाला और यह सुनश्चिति किया कि भारत चायकाल तक और विकेट न खोए। वह युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के साथ क्रीज पर थे । दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 25 रन की साझेदारी हो गई थी।  विराट  139 गेंदों पर 40 जबकि पंत 30 गेंदों पर 12 रन पर खेल रहे  थे।

चायकाल के बाद विराट और पंत स्कोर को 167 रन तक ले गए। यानसन ने पंत को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। रविचंद्रन अश्विन दो रन बनाकर यानसन का शिकार बने।  शार्दुल ठाकुर ने नौ गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 12 रन बनाये। ठाकुर को लेफ्ट आर्म स्पिनर केशव महराज ने आउट किया। जसप्रीत बुमराह खाता खोले बिना रबादा का शिकार बने। मोहम्मद शमी 20 गेंदों में सात रन बनाकर लुंगी एनगिदी की गेंद पर आउट हुए।  उमेश यादव चार रन बनाकर नाबाद रहे।

दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज फिलहाल 1-1 की बराबरी पर है। भारत के पास तीसरा टेस्ट जीतकर दक्षिण अफ्रीका में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने का मौका है।


Share