टीके की 2 डोज बेहद जरूरी

16 जनवरी को टीकाकरण अभियान को शुरू
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के खिलाफ निर्णायक लड़ाई की शुरूआत कर दी है। शनिवार को टीकाकरण अभियान की शुरूआत करते हुए उन्होंने कहा कि वैक्सीन की दूसरी डोज लेना बहुत जरूरी है। प्र.म. मोदी ने कहा कि सोशल डिस्टैंसिंग का पालन और मास्क पहनना बहुत जरूरी है क्योंकि दूसरी डोज के दो हफ्ते बाद ही इम्युनिटी विकसित होगी। उन्होंने एक बार फिर ‘दवाई भी, कड़ाई भी’ का नारा दोहराया।

प्र.म. मोदी ने कहा, सामान्य तौर पर एक टीके के निर्माण में कई वर्ष लग जाते हैं लेकिन भारत में दो वैक्सीन बनकर तैयार हो गईं। इसके अलावा अन्य वैक्सीन पर भी काम बहुत जोरों से चल रहा है। मैं लोगों को फिर आगाह करना चाहता हूं कि वैक्सीन की दो डोज बहुत जरूरी है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि दोनों डोज के बीच में कम से कम एक महीने का अंतर होना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा, भारत की वैक्सीन, हमारी उत्पादन क्षमता पूरी मानवता के हित में काम आए, ये हमारी प्रतिबद्धता है। आज कोरोना का पहला टीका स्वास्थ सेवा से जुड़ लोगों को लगाकर एक तरह से समाज अपना ऋण चुका रहा है। ये टीका उन सभी साथियों के प्रति कृतज्ञ राष्ट्र की आदरांजली भी है। आज जब हमने वैक्सीन बना ली है, तब भी भारत की तरफ दुनिया आशा और उम्मीद की नजरों से देख रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया की उपस्थिति में एक सफाई कर्मचारी को कोरोना वायरस का पहला टीका लगाया गया। इसके बाद डॉ. गुलेरिया ने भी कोरोना वैक्सीन का डोज लिया।


Share