14112 नए केस, 19 की मौत, खराब रिकवरी रेट गिरने से बढ़ी चिंता, टॉप-10 राज्यों में राजस्थान शामिल

14112 new cases, 19 deaths, rising concern due to poor recovery rate, Rajasthan included in top-10 states
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा रोजाना बढ़ता ही जा रहा है। प्रदेश में रविवार को एक बार फिर कोरोना ने अपना डरावना चेहरा दिखाया है। रविवार को 19 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। शनिवार को 17 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई थी। स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल बुलेटिन के अनुसार रविवार को अजमेर, बाड़मेर, भरतपुर, टोंक, उदयपुर और कोटा में एक-एक कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। जयपुर, दौसा, झालावाड़ और झुंझुनूं और जोधपुर में दो-दो व्यक्ति की मौत हो गई। रविवार को 14112 नए केस मिले हैं। प्रदेश में 93442 एक्टिव केस हो गए है। लेकिन राहत की बात यह रही की रविवार को 9884 कोरोना मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल बुलेटिन के अनुसार 3666 नए केस मिले हैं। जबकि अलवर में 820 और जोधपुर में 1170 नए केस मिले है। चित्तौडग़ढ़ में 669, भरतपुर में 741 और बाड़मेर में 283 केस मिले हैं। झालावाड़ में 194 और करौली में 108 केस मिले हैं। कोटा में 520 और पाली में 486 केस मिले हैं। सीकर में 484 और उदयपुर में 453 केस मिले हैं। सवाईमाधोपुर में 215 और प्रतापगढ़ में 279 केस मिले हैं। सबसे कम जालौर में 30 नए केस मिले है। राजस्थान में रिकवरी रेट भी घटती जा रही है। शनिवार को पिछले 16 दिनों में राज्य की रिकवरी रेट में 7 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हुई है। वर्तमान में राजस्थान की रिकवरी रेट 91 फीसदी है, जो देश की रिकवरी रेट से 2 फीसदी कम है। देश में राजस्थान की स्थिति देखी जाए तो यह टॉप 10 राज्यों में शुमार हो चुका है, जहां सबसे खराब रिकवरी रेट है। पूरे देश में अगर स्थिति देखी जाए तो सबसे खराब रिकवरी रेट गुजरात की है, जहां 86.60 फीसदी रिकवरी रेट है।

जालोर जिले में सबसे अच्छी रिकवरी

जालोर जिले में रिकवरी रेट अन्य जिलों की तुलना में सबसे अच्छी है। यहां रिकवरी दर 97 फीसदी से ज्यादा है, जबकि बूंदी में 95 फीसदी से ऊपर। जयपुर, चित्तौडग़ढ़, टोंक, अलवर, पाली, हनुमानगढ़, सवाई माधोपुर और बाड़मेर ऐसे जिले हैं, जहां की रिकवरी रेट राज्य की रिकवरी रेट के मुकाबले कम है। रविवार को जालौर में सबसे कम 30 एक्टिव केस मिले है। राजस्थान में जिलेवार स्थिति देखी जाए तो रिकवरी रेट भरतपुर, प्रतापगढ़ में सबसे कम है। यहां रिकवरी रेट 85 फीसदी से भी नीचे है, जबकि प्रतापगढ़ ऐसा जिला है, जहां 18 से ज्यादा एज ग्रुप को सबसे पहले वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। दूसरी डोज भी 90 फीसदी से ज्यादा है। प्रतापगढ़ में रिकवरी रेट 84.34 और भरतपुर में 83.84 फीसदी है।


Share