1100 करोड़ के चाइनीज ऑनलाइन गैम्बलिंग रैकेट का पर्दाफाश, 4 गिरफ्तार

1100 करोड़ के चाइनीज ऑनलाइन गैम्बलिंग रैकेट का पर्दाफाश
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। गैर-कानूनी तरीक से चला रहे ऑनलाइन गैम्बलिंग रैकेट के आरोप में एक चाइनीज और उनके तीन भारतीय सहयोगियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस रैकेट का संचालन चीन स्थित एक कंपनी से किया जा रहा था। हैदराबाद पुलिस ने आरोपियों को बुधवार को दिल्ली में गिरफ्तार किया फिर उन्हें हैदराबाद ले जाया गया।

मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में हुई थी कार्रवाई

इसी सप्ताह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने चीनी लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई कर 1000 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग का पर्दाफाश किया था। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने गुरूग्राम, दिल्ली, नोएडा के कई ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। चाइनीज लोगों ने भारत में यहां के लोकल लोगों, बैंक अधिकारियों और चार्टर्ड अकाउंटेंट की मदद से 40 के करीब फर्जी कंपनियों के नाम अकाउंट बनाकर इस काम को अंजाम दिया था।

1100 करोड़ ट्रांजैक्शन का खुलासा

ऑनलाइन गैम्बलिंग की बात करें तो इसका आयोजन अलग-अलग कंपनियों की तरफ से चाइनीज आधारित गेमिंग कंपनी ‘बीजिंग टी पावर कंपनीÓ के तहत किया जा रहा था। पुलिस ने अभी तक करीब 1100 करोड़ के ट्रांजैक्शन का खुलासा किया है। इसमें ज्यादातर ट्रांजैक्शन लॉकडाउन के दौरान किया गए।

चार लोगों को गिरफ्तार किया गया

हैदराबाद पुलिस ने ऑनलाइन गैम्बलिंग के आरोप में चाइनीज नागरिक या हाओ को उनके तीन भारतीय साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। या हाओ ऑनलाइन कंपनी के साउथ ईस्ट एशिया के ऑपरेशनल हेड हैं। इस कंपनी के भारत में तीन डायरेक्टर- धीरज सरकार, अंकित कपूर और नीरज तुली, भी गिरफ्तार किए गए हैं। चारों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है।


Share