Thursday , 13 December 2018
Top Headlines:
Home » Sports » सौरभ को स्वर्ण, राजपूत को रजत, अभिषेक को कांसा

सौरभ को स्वर्ण, राजपूत को रजत, अभिषेक को कांसा

जकार्ता। भारत के 16 साल के युवा निशानेबाज सौरभ चौधरी ने 18वें एशियाई खेलों में मंगलवार को पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल निशानेबाजी स्पर्धा में ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुये देश के लिये स्वर्ण पदक हासिल किया जबकि इसी स्पर्धा में अभिषेक वर्मा ने कांस्य पदक और अनुभवी संजीव राजपूत ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में रजत पदक जीता।

मेरठ के सौरभ ने इसी के साथ इन खेलों में भारत को निशानेबाजी का पहला स्वर्ण और कुल तीसरा स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने इससे पहले कुश्ती में बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट के जरिये दो स्वर्ण पदक जीते हैं।
एशियाई खेलों के इतिहास में यह भारत का कुल आठवां निशानेबाजी स्वर्ण पदक है। वहीं सीनियर स्पर्धा में युवा निशानेबाज का यह पहला पदक है। वह इससे पहले वर्ष 2017 के एशियन चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर पिस्टल वर्ग में चौथे नंबर पर रहे थे।
16 साल के युवा निशानेबाज ने जेएससी शूङ्क्षटग रेंज में हुये फाइनल में एशियाई खेलों का रिकार्ड बनाते हुये 240.7 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया और स्वर्ण जीता। भारत के लिये इसी स्पर्धा में दूसरा पदक अभिषेक ने दिलाया। 29 साल के अभिषेक ने 219.3 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य जीता। इस वर्ग का रजत पदक जापान के तोमोयूकी तात्सुदा ने जीता। वह 239.7 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहे।

फाइनल में सौरभ काफी समय तक दूसरे स्थान पर बने रहे थे लेकिन जैसे ही मात्सुदा ने 8.9 का शॉट लगाया सौरभ को मजबूत बढ़त मिल गयी और उनके आखिरी क्षणों में 10.2 के शॉट के साथ वह शीर्ष पर आ गये। इससे पहले क्वालिफिकेशन राउंड में भी सौरभ ने इतना ही लाजवाब प्रदर्शन किया था और वह 586 के सर्वाधिक स्कोर के साथ शीर्ष पर रहे थे जबकि अभिषेक ने 580 अंकों के साथ छठे स्थान पर रहकर फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था।
पेशे से वकील अभिषेक के लिये भी यह किसी बड़े अंतरराष्ट्रीय स्तर के खेलों में पदार्पण है, जिन्होंने पहले कभी निशानेबाजी विश्वकप में भी हिस्सा नहीं लिया है। भारत के लिये यह पदक इसलिये भी अहम है क्योंकि इस वर्ग में अब तक केवल विजय कुमार ही पदक जीत पाये हैं जिन्होंने 2010 के ग्वांग्झू खेलों में 10 मीटर एयर पिस्टल में कांस्य दिलाया था।
सौरभ और अभिषेक ने राष्ट्रीय चयन ट्रॉयल में अनुभवी जीतू राय और ओम मिथरवाल को मात देते हुये खेलों के लिये भारतीय दल में जगह बनाई थी। एशियाई खेलों में वर्ष 1974 के तेहरान खेलों में निशानेबाजी की इस स्पर्धा को शामिल किया गया था और खेलों के आखिरी 11 संस्करणों में चीन ने इसमें सर्वाधिक सात पदक जीते हैं जबकि कोरिया ने दो और जापान तथा उत्तर कोरिया के पास एक एक पदक है। लेकिन इस सूची में अब भारत का नाम भी जुड़ गया है।
क्वालिफिकेशन में सौरभ ने 40 अनुभवी निशानेबाजों की फील्ड में गेम्स रिकार्ड बनाते हुये शीर्ष पर जगह बनाई और वह पूर्व ओलंपिक चैंपियन कोरिया के जिन जोंगोह से दो अंक आगे रहे। सौरभ ने इससे पहले इसी वर्ग में जर्मनी में आईएसएसएफ जूनियर विश्वकप में 243.7 अंकों के साथ विश्व रिकार्ड बनाते हुये स्वर्ण जीता था।
2016 के रियो ओलंपिक के लिये नजरअंदाज किये गये राजपूत ने दो साल बाद खुद को साबित करते हुये 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में रजत पदक जीता। 37 साल के अनुभवी संजीव शुरूआत से ही बढ़त पर रहे और एक समय स्वर्ण के दावेदार लग रहे थे लेकिन 8.4 के शॉट से उनकी स्थिति पर फर्क पड़ा। हालांकि उन्होंने फिर 10.6 का बेहतरीन स्कोर कर खुद को फिर से स्वर्ण ही होड़ में पहुंचाया और अंत में कुल 452.7 के स्कोर के साथ रजत सुनिश्चित किया।

चीन के जीचेंग हुई ने 453.3 के स्कोर के साथ स्वर्ण और जापान के ताकायूकी मात्सुमोतो ने 441.4 के स्कोर के साथ कांस्य जीता। क्वालिफिकेशन में भारतीय निशानेबाज ने 32 खिलाडिय़ों की फील्ड में 1160 के स्कोर के साथ सातवें स्थान पर रहकर फाइनल में जगह बनाई थी। लेकिन इसी वर्ग के अन्य भारतीय खिलाड़ी अखिल श्योरण 11वें पायदान पर रहकर चूक गये। उन्होंने 1158 का स्कोर किया।
मिश्रित टीम ट्रैप स्पर्धा में भारत की श्रेयसी ङ्क्षसह और लक्ष्य श्योरण की जोड़ी फाइनल में पहुंचकर छठे और अंतिम स्थान पर रही। भारतीय जोड़ी इस मुकाबले में 16 का स्कोर कर सबसे पहले एलिमिनेट हुई। लेबनान(43) ने स्वर्ण, चीनी ताइपे(42) ने रजत और चीन(31) ने कांस्य जीता।सौरभ चौधरी (गोल्ड), अभिषेक वर्मा (कांस्य) एवं संजीव राजपूत (रजत) अपने पदकों के साथ । सौरभ को 50 लाख देगी योगी सरकारलखनऊ। इंडोनेशिया में चल रहे 18वें एशियाई खेलों में 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले मेरठ के सौरभ चौधरी को उत्तर प्रदेश सरकार 50 लाख रूपये का पुरस्कार देगी जबकि 10 मीटर एयर राइफल मिश्रित स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल करने वाले मेरठ के ही रवि कुमार को 20 लाख रूपये का पारितोषिक दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सौरभ को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने देश और प्रदेश का नाम गौरवान्वित किया है। मुख्यमंत्री ने सौरभ के लिए 50 लाख रूपए इनाम की घोषणा के साथ उन्हें राजपत्रित अधिकारी की नौकरी देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को यहां कहा कि निर्धारित आयु पूर्ण करने पर 16 साल के सौरभ चौधरी को राज्य सरकार में राजपत्रित अधिकारी के पद पर नौकरी दी जाएगी। उन्होंने रवि कुमार को भी राजपत्रित अधिकारी के पद पर नौकरी दिए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सौरभ तथा रवि ने लगन और परिश्रम के बल पर बेहतरीन प्रदर्शन करके देश और प्रदेश का मान बढ़ाया है। पूरा राज्य इन प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों की उत्कृष्ट उपलब्धि से गौरवान्वित है। खेल मंत्री चेतन चैहान ने सौरभ तथा रवि को बधाई देते हुए कहा कि उनकी उपलब्धि से प्रदेश के युवाओं को खेल प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.