Thursday , 18 October 2018
Top Headlines:
Home » Jaipur » शहादत को सम्मान देने जनसैलाब उमड़ा

शहादत को सम्मान देने जनसैलाब उमड़ा

जयपुर। प्रदेश के चार जिलों से लगती भारत पाकिस्तान सीमा पर शहीदों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने और जांबाजों के सम्मान के लिये आयोजित देश के पहले और अनूठे कार्यक्रम ‘शहादत को सम्मानÓÞ में भाग लेने के लिये मंगलवार को बनायी गयी मानव श्रृंखला में जनसैलाब उमड़ पड़ा।
राजस्थान सरकार एवं सीमा सुरक्षा बल की ओर से चार जिलों श्रीगंगानगर, जैसलमेर, बाड़मेर और बीकानेर की 700 किलोमीटर लम्बी सीमा रेखा पर मानव श्रृंखला बनायी गयी और इसमें भाग लेने के लिये आम नागरिक सवेरे से ही निर्धारित स्थलों पर पहुंचना शुरू हो गये। लोगों में इस कार्यक्रम को लेकर भारी उत्साह था और इसमें बच्चों के साथ ही बड़े, बुजुर्ग, सेवानिवृत सैनिक और उनके परिजनों ने भाग लिया।
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बाड़मेर से जैसलमेर तक हेलिकाप्टर से इस मानव श्रृंखला का अवलोकन किया और कार्यक्रम में शामिल लोगों पर हेलिकाप्टर से पुष्प वर्षा कर उनका अभिनंदन किया। श्रीमती राजे हेलिकाप्टर से सुबह बाड़मेर के उतरलाई एयरबेस पहुंची जहां से वह जैसलमेर गयी और वहां सेना के वार म्युजियम के समीप सेना के हैलीपेड पर उतरी। उन्होंने इस अवसर पर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की और पौधारोपण भी किया।
देश के इतिहास में पहली बार आयोजित इस तरह के कार्यक्रम में सीमा सुरक्षा बल, सेना और एयर फोर्स के जवान और जिला प्रशासन की ओर से व्यापक प्रबंध किये गये थे। जिला प्रशासन की ओर से इस मानव श्रृंखला को देखते हुये दिल्ली से भारी मात्रा में तिरंगे झंडे मंगाये गये थे। इस दौरान जगह-जगह तीन रंगों केसरिया, सफेद और हरे रंग के गुब्बारे छोड़े गये।
कार्यक्रम के मद्देनजर सुबह 11 बजे से पहले ही सीमांत इलाकों के स्कूल, कॉलेजों के छात्र छात्राएं , स्काउट गाईड सहित पूर्व सैनिक और उनके परिजन पहुंचने शुरू हो गये, हाथों में तिरंगा झंडा लिये और नाचते गाते लोगों का उत्साह देखते ही बनता था। कार्यक्रम के दौरान भारत माता की जय और देशभक्ति के गगनभेदी नारे लगाये गये और ढोल नगाड़ों के साथ देश भक्ति से ओतप्रोत गीत बजाये गये । मानव श्रृंखला के दौरान सभी लोग एक दूसरे के हाथ थामे और भारतीय तिरंगा लिये हुये थे।
कार्यक्रम के तहत जैसलमेर में वार म्युजियम में मांगणियार कलाकारों ने देश भक्ति के गीतों से मनोरंजक प्रस्तुति दी वहीं बाड़मेर में सेना की ओर से सैन्य सामानों की प्रदर्शनी लगायी गयी और हस्तनिर्मित थ्री डी मैप लगाया गया।
इस कार्यक्रम के तहत बनायी गयी 700 किलोमीटर लम्बी मानव श्रृंखला में सर्वाधिक 260 किलोमीटर की सरहद जैसलमेर की है। उसके बाद बीकानेर की 180 किलोमीटर, श्रीगंगानगर की 175 किलोमीटर तथा बाड़मेर की 85 किलोमीटर लम्बी सरहद शामिल है। इस मानव श्रृंखला का समापन अपरान्ह एक बजे सामूहिक राष्ट्रगान से हुआ जिसमें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित सैन्य अधिकारी भी शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.