Tuesday , 17 September 2019
Top Headlines:
Home » Rajasthan » शहर की बदहाली पर कांग्रेस का जंगी प्रदर्शन

शहर की बदहाली पर कांग्रेस का जंगी प्रदर्शन

congress_protestबांसवाड़ा। कांग्रेस की चुनौती और चेतावनी ने पहली बार असर दिखाया और जिला प्रशासन ने नगर परिषद् प्रशासन को 24 घंटे में गुणवत्तायुक्त कार्य शुरू करने के सख्त निर्देश दिए। पहले तो सीवरेज की समस्या और बाद में हुई अतिवृष्टि के कारण शहर की जनता त्रस्त नजर आ रही है। शहर की अधिकांश सड़के अपना दम तोड़ती नजर आ रही है। आलम तो यह है हो चुका है कि हर सड़क हादसे की सड़क बनती जा रही है ऐसे में शासन और प्रशासन को भारी जनाक्रोश का सामना करना पड़ रहा था। इसी के चलते शुक्रवार को कांग्रेसजनों ने प्रदर्शन करते हुए परिषद् से लेकर जिला प्रशासन तक को अपनी सख्ती से हिला डाला। शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव जैनेन्द्र त्रिवेदी के नेतृत्व में कांग्रेसजन जिला कांग्रेस कमेटी से नारेबाजी करते हुए नगर परिषद् कार्यालय पहुंचे। यहां पर कांग्रेसजनों ने नारेबाजी करते हुए सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों से अपील की कि वे पेन-डाउन कर बाहर आ जाए। इसके बाद अधिकांश अधिकारी व कर्मचारी बाहर निकलते नजर आए। परिषद् के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन करते हुए कांग्रेसजनों ने अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पूरा शहर बारिश के बाद त्रस्त नजर आ रहा है लेकिन नगर परिषद् के पास न तो कोई योजना है और न ही संसाधन। कांग्रेसजनों ने परिषद् के कार्यवाहक आयुक्त प्रभुलाल भापोर को कहा कि वे नगर परिषद् सभापति को मौके पर बुलवाएं। इस दौरान कांग्रेसजनों को पता चला कि पिछले एक पखवाड़े से परिषद् सभापति ने कार्यालय का रूख तक नहीं किया है। इस पर कांग्रेसजन शेम-शेम के नारे लगाते नजर आए। आयोजित सभा को संबोधित करते हुए नगर परिषद् के पूर्व सभापति राजेश टेलर ने कहा कि उनके कार्यकाल में ऐसी स्थितियों के लिए पूर्व में योजना बन जाती थी लेकिन आज आलम यह है कि ठंडे डामर तक की व्यवस्था नगर परिषद् नहीं कर पायी है। उन्होंने सवाल खड़ा किया कि नया बोर्ड बनते ही साढ़े आठ करोड़ के टेंडर किए गए लेकिन आखिर इसका परिणाम हुआ क्या। यह किसी को नहीं पता। सभा को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव अर्जुन सिंह बामनिया ने कहा कि बदहाल सड़कों की हालत यह है कि वे स्वयं सड़क पार करते हुए गिर गए। उन्होंने बताया कि मोक्षधाम तक का मार्ग भी बदहाली के कगार पर पहुंच गया है। सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव जैनेन्द्र त्रिवेदी ने कहा कि आज शहर की जनता त्राही-त्राही कर रही है। पार्षद आशिष मेहता, देवबाला राठौड़ ने भी जमकर आक्रोश व्यक्त किया। इस दौरान कार्यवाहक आयुक्त प्रभुलाल भापोर बाहर आए लेकिन वे किसी भी बात का जवाब नहीं दे पाए। अलबत्ता उन्होंने कहा कि काम हो जाएगा।
अतिरिक्त जिला कलक्टर के चैम्बर में की रामधुन
इसके बाद सभी कांग्रेसी कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे। जहां पहुंचकर इन लोगों ने अतिरिक्त जिला कलक्टर के कमरे में राम धुन शुरू कर दी। इस दौरान जिले की विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रशासन को जमकर आड़े हाथो लिया गया। तब अतिरिक्त जिला कलक्टर एनके कोठारी ने नगर परिषद् के कार्यवाहक आयुक्त प्रभुलाल भापोर को मौके पर बुलाया और 24 घंटे में गुणवत्तायुक्त कार्य शुरू करने के कड़े निर्देश दिए। इस दौरान पीसीसी सदस्य एवं जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मनीषदेव जोशी ने महात्मा गांधी चिकित्सालय में प्रमुख चिकित्साधिकारी के कार्यभार के वितरण पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि प्रमुख चिकित्साधिकारी वीके जैन के पास उपमुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी का भी कार्यभार है। उन्होंने कहा कि पीएमओ ने अपने अधिकार आखिर विभाजित कैसे किए है। जोशी ने आपदा प्रबंधन के 150 करोड़ रूपए के वितरण के मामले में भी घपलेबाजी का आरोप लगाया। इसी तरह जलदाय विभाग की पोल खोलते हुए उन्होंने कहा कि आज से आठ साल पहले शहर में जलापूर्ति के लिए पाईप लाईन डाली गयी थी लेकिन अब तक पानी तो शुरू नहीं हो पाया और शहर की 22 कॉलोनियों के वासिन्दे पानी को तरस रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*