Monday , 19 November 2018
Top Headlines:
Home » Sports » वे.इ. के विरूद्ध वनडे टीम का चयन आज

वे.इ. के विरूद्ध वनडे टीम का चयन आज

भुवी-बुमराह की वापसी तय
टीम में धोनी या ऋषभ, या फिर दोनों?
हैदराबाद। महेंद्र सिंह धोनी की खराब बल्लेबाजी फॉर्म के कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ मौजूदा वनडे के लिए ऋषभ पंत को भी टीम में जगह मिल सकती है। गुरूवार को हैदराबाद में चयन समिति की बैठक में यह निर्णय लिया जा सकता है।
अभी यह तय नहीं है कि टीम का चयन पहले तीन मैचों के लिए किया जाएगा या पूरी सीरीज के लिए। वनडे सीरीज की शुरूआत 21 अक्टूबर से होगी, जिसमें पांच एकदिवसीय और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले जाएंगे।
कप्तान विराट कोहली पर काम का बोझ भी अहम मुद्दा है, लेकिन इस बात की संभावना कम ही है कि वह पूरी सीरीज से आराम लेना चाहेंगे। इसके अलावा धोनी के कवर को लेकर चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन के बीच चर्चा हो सकती है। धोनी की विकेटकीपिंग धारदार है, लेकिन उनकी बल्लेबाजी फॉर्म में गिरावट आई है।
चयन मामलों की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हम सभी को पता है कि धोनी विश्व कप तक खेलेंगे। लेकिन पंत को निखारने में कोई नुकसान नहीं है, जो छठे या सातवें नंबर पर शानदार बल्लेबाज हो सकते हैं, जिनमें मैच को फिनिश करने की क्षमता है।
द ओवल में पहला टेस्ट शतक जडऩे के बाद राजकोट में भी पंत ने 92 रनों की पारी खेली, जिसके बाद 20 साल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज को टीम में शामिल करने की मांग तेज हो रही है। दिनेश कार्तिक टीम का हिस्सा रहे हैं, लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है और अहम मौकों पर वह मैच को फिनिश करने में नाकाम रहे हैं, जो टीम प्रबंधन की चिंता का सबब है।
चयनकर्ता इसके अलावा कुछ और विकल्पों पर भी विचार कर सकते हैं। केदार जाधव अपनी पैर की मांसपेशियों को लेकर परेशान हैं और सीमित ओवरों के चरण से बाहर हो गए हैं, जिससे मध्यक्रम में एक स्थान बना है। एशिया कप में अच्छे प्रदर्शन के बाद अंबति रायडू का चुना जाना लगभग तय है, फिर भले ही कोहली खेलने का फैसला करें या नहीं। (शेष पेज 8 पर)
मौजूदा टेस्ट सीरीज से ब्रेक के बाद भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की वापसी लगभग तय है।
अक्षर पटेल के विकल्प के तौर पर शानदार प्रदर्शन के बाद रवींद्र जडेजा को भी टीम में जगह मिलने की उम्मीद है। मनीष पांडे को हालांकि टीम से बाहर किया जा सकता है, जो पिछले कुछ समय से अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं।विजय हजारे ट्रॉफी में खेल सकते हैं धोनीपूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र ङ्क्षसह धोनी घरेलू विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय टूर्नामेंट में क्वार्टरफाइनल के लिये क्वालीफाई कर चुके झारखंड क्रिकेट टीम के लिये खेल सकते हैं। झारखंड क्रिकेट टीम के क्वार्टरफाइनल में क्वालीफाई करने के बाद धोनी के घरेलू टीम में खेलने की संभावना बनी है। वह झारखंड की टीम के साथ ट्रेङ्क्षनग कर रहे हैं लेकिन ग्रुप लीग में उसकी तरफ से खेलने नहीं उतरे थे। वह हाल ही में एशिया कप में भी भारतीय टीम का हिस्सा रहे थे। धोनी पिछले कुछ समय से खराब फार्म से गु•ार रहे हैं और उनकी बल्लेबा•ाी को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। धोनी टेस्ट से संन्यास के बाद से सीमित ओवर प्रारूप में ही खेल रहे हैं। उन्होंने मौजूदा वर्ष में 15 वनडे और सात ट््वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में ही हिस्सा लिया है जबकि घरेलू क्रिकेट में भी वह हिस्सा नहीं लेते हैं।पाक दिग्गज के रिकॉर्ड पर कोहली की नजरनई दिल्ली। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली लगभग हर मैच में रिकॉर्ड बनाते और तोड़ते रहते हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 अक्टूबर से खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में कोहली के पास एक मौका है पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज रहे इंजमाम-उल-हक के एक रिकॉर्ड की बराबरी करने का। हैदराबाद के मैदान पर कोहली इंजमाम के 25 टेस्ट शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी कर सकते हैं। इसी के साथ कोहली की नजर एक और उपलब्धि पर है।
कोहली करेंगे इंजमाम की बराबरी? : टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के इस समय टेस्ट क्रिकेट में 24 शतक हैं। यदि कोहली ने हैदराबाद में होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में भी शतक जड़ दिया तो वो इंजमाम के 25 टेस्ट शतक के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। 29 वर्षीय विराट ने अब तक 72 टेस्ट मैच में 24 शतक बनाए हैं। (शेष पेज 8 पर)
उन्होंने 54.66 के बेहतरीन बल्लेंबाजी औसत से 6286 रन बनाए हैं। दूसरी ओर, इंजमाम ने 120 टेस्ट मैच खेलकर 49.60 के औसत से 8830 रन बनाए थे।
टेस्ट क्रिकेट में सचिन के हैं सबसे ज्यादा शतक
टेस्ट क्रिकेट में शतक जडऩे के मामले में कोहली फिलहाल 21वें नंबर पर हैं। वहीं अगर सफेद कपड़ों की क्रिकेट में सबसे ज़्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज की बात करें तो वो हैं सचिन तेंदुलकर। मास्टर ब्लास्टर सचिन के बल्ले से क्रिकेट के इस सबसे बड़े फॉर्मेट में सबसे ज्यादा सेंचुरी का विश्व रिकॉर्ड है। सचिन ने टेस्ट मैचों में 51 शतक जड़े हैं। सचिन के नाम 200 टेस्ट मैचों में 53.78 के औसत से 15 हजार 921 रन बनाए हैं। दक्षिण अफ्रीका के जॉक कैलिस ने 166 टस्ट में 45 शतक बनाए हैं और वे इस मामले में दूसरे नंबर पर हैं।
ऑस्ट्रेेलिया के रिकी पोंटिंग 168 टेस्ट में 41 शतक के साथ तीसरे, श्रीलंका के कुमार संगकारा 134 टेस्ट में 38 शतक के साथ चौथे और भारत के राहुल द्रविड़ 164 टेस्ट मैच में 36 शतक के साथ पांचवें स्थान पर हैं। पाकिस्तान के यूनुस खान, भारत के सुनील गावस्कर, वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा और श्रीलंका के महेला जयवर्धने के नाम टेस्ट मैचों में 34-34 शतक हैं।
क्लीन स्वीप पर कोहली की नजर
दो टेस्ट मैच की सीरीज का ये आखिरी मैच होगा और टीम इंडिया मौजूदा श्रृंखला का पहला मैच जीत चुकी है। अब कप्तान कोहली की नजर इंजमाम-उल-हक के रिकॉर्ड की बराबरी के साथ-साथ सीरीज में टीम का क्लीन स्वीप करने भी होगी। वैसे आपको बता दें कि वेस्टइंडीज की टीम पिछले 16 सालों से भारत में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी है। इससे भी मजेदार बात ये है कि कैरिबियाई टीम पिछले 24 सालों से भारत में एक अदद टेस्ट मैच जीतने तक के लिए तरस रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.