Sunday , 24 March 2019
Top Headlines:
Home » Political » विपक्ष के महागठबंधन को कहा ‘महामिलावट’

विपक्ष के महागठबंधन को कहा ‘महामिलावट’

नई दिल्ली (एजेंसी)। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को लोकसभा में विपक्ष पर ताबड़तोड़ हमले किए। उन्होंने विपक्ष के हर आरोप का जवाब देते हुए कांग्रेस के 55 साल और अपनी सरकार के 55 महीने के विकास की तुलना की। उन्होंने महागठबंधन की कोशिशों को ‘महामिलावटÓ कहते हुए तंज कसा। पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में 30 साल के बाद देश की जनता ने पूर्ण बहुमत की सरकार दी और आज देश को अनुभव हो गया है कि मिलावटी सरकार क्या होती थी और पूर्ण बहुमत की सरकार के क्या मायने हैं। उन्होंने कहा, महामिलावट का हाल आपने कोलकाता में देखा लेकिन केरल में ये लोग एक दूसरे का मुंह नहीं देख पाएंगे, यूपी में महामिलावट का खेल देखिए, बाहर कर दिए गए। चुनाव से ठीक पहले विपक्षी गठबंधन पर करारा प्रहार करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश ने 30 साल तक मिलावट की स्थिति देखी है। उन्होंने कहा कि हेल्दी डिमॉक्रेसी वाले अब महामिलावट से दूर रहने वाले हैं। ‘मैं समझता हूं कि चुनाव का साल हैÓप्रधानमंत्री ने कहा, हमारी सरकार की पहचान ईमानदारी, पारदर्शिता, गरीबों के लिए संवेदना, राष्ट्रहित सर्वोपरि रखने वाली, भ्रष्टाचार पर कार्रवाई करने और तेज गति से काम करने के लिए है। सदन के सदस्यों का आभार जताते हुए पीएम ने चुटकी लेते हुए कहा, वैसे, कुछ बेसिरपैर की बातें भी हुई हैं पर मैं मानता हूं यह चुनाव का वर्ष है और इस कारण सबकी मजबूरी है तो कुछ न कुछ बोलना पड़ता है। यह भी सही है कि हम लोग यहां से जाने के बाद जनता को अपना लेखा-जोखा देने वाले हैं। मैं आप सभी को आगामी चुनाव में हेल्दी कॉम्पिटिशन के लिए शुभकामनाएं देता हूं। ‘चुनौतियों को दे रहे हैं चुनौतीÓपीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, आशा और विश्वास की बात करने वाले ही कुछ कर पाते हैं। रोना रोने वाले को 5-10 लोग ही मिल पाते हैं। उन्होंने कहा, स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि अतीत में जिस दौर से हमें गुजरना पड़ा, वे सब आवश्यक थे क्योंकि विनाश का जो कार्यकाल आया, उससे ही भविष्य का भारत आ रहा है, वह अंकुरित हो चुका है। उस विशालकाय वृक्ष का उगना शुरू हो चुका है। पीएम ने कहा कि चुनौतियों को ही चुनौती देते हुए हम आम आदमी की आकांक्षाओं को पूरा करने में जुटे हुए हैं। कांग्रेस पर क्चष्ट, ्रष्ठ तंजकांग्रेस पर मोदी ने तंज कसते हुए कहा, जब हम इतिहास की बात करते हैं तो 1947 से 2014 की बात करते हैं। कांग्रेस में हमारे मित्र दो ही टाइम पीरियड देखते हैं। पहला क्चष्ट, जो उनके लिए क्चद्गद्घशह्म्द्ग ष्टशठ्ठद्दह्म्द्गह्यह्य है- जब कुछ भी नहीं हुआ और दूसरा है ्रष्ठ यानी ्रद्घह्लद्गह्म् ष्ठ4ठ्ठड्डह्यह्ल4- जब सब कुछ हुआ। साढ़े चार साल पहले क्या होता था और आज क्या है, सब दिखता है।
प्र.म. ने विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि भारत साढ़े चार साल पहले 10-11वें अर्थव्यवस्था था और आज 6वें नंबर पर आ गया है। उस समय 11वें नंबर पर पहुंचने का गौरव किया था, मैं समझ नहीं पाता हूं कि उन्हें 6 पर पहुंचने पर पीड़ा क्यों होती है? इसके साथ ही पीएम ने नए वोटरों का जिक्र करते हुए कहा कि 21वीं शताब्दी के उन करोड़ों युवाओं का मैं स्वागत करता हूं जो पहली बार संसदीय चुनाव के लिए वोट करने वाले हैं। वे एक प्रकार से नीति निर्धारक प्रक्रिया के हिस्सेदार बनने वाले हैं इसलिए मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। ‘अच्छा है.. मैं मर्यादा में रहूंÓलोकसभा में दिखे आक्रामक तेवर, बोले-
देश की बुराई ठीक नहींनई दिल्ली (एजेंसी)। लोकसभा में गुरुवार को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद देने के लिए खड़े हुए तो उन्होंने विपक्ष के हर आरोपों का जवाब दिया। उन्होंने कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष का काम है विरोध करना, मोदी की बुराई की जानी चाहिए लेकिन मोदी-बीजेपी की आलोचना करते-करते लोग देश की बुराई करने लग जाते हैं। आक्रामक तेवर अपनाते हुए पीएम ने कहा, हममें से किसी को भी देश की बुराई करने वाली बातें नहीं करनी चाहिए।
उन्होंने कांग्रेस से सवाल पूछते हुए कहा कि लंदन में झूठी प्रेस कॉन्फ्रेंस करके आप देश की कौन सी इज्जत बढ़ा रहे थे? मोदी ने आगे कहा कि अच्छा है…मैं अपनी मर्यादा में रहूं। उन्होंने कहा, आज खडग़े जी बता रहे थे कि मोदी जी जो बात पब्लिक में बोलते हैं, वही बात राष्ट्रपति जी बोल रहे थे। प्र.म. ने चुटीले अंदाज में कहा कि सच बोलने वाले बाहर और अंदर एक ही बात बोलते हैं। इससे आपने मान भी लिया कि पीएम और राष्ट्रपति सच बोलते हैं। आपकी तो झूठ सुनने की आदत हो गई है।
पीएम मोदी पर विपक्ष संस्थाओं को बर्बाद करने का आरोप लगाता रहा है। इस पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा, कहा जा रहा है कि मोदी संस्थाओं को बर्बाद कर रहा है। एक कहावत है- उल्टा चोर कोतवाल को डाटे। पीएम ने सवाल उठाते हुए कहा, देश में आपातकाल थोपा कांग्रेस ने, सेना को अपमानित किया कांग्रेस ने, सेनाध्यक्ष को गुंडा कहा कांग्रेस ने, कहानियां गढ़ी गईं तख्तापलट की… इन सबके बाद भी आप कहते हैं कि मोदी देश की संस्थाओं को बर्बाद कर रहे हैं।
उन्होंने आगे कहा कि चुनाव आयोग दुनिया में हमारे गौरव का केंद्र है। छोटी-मोटी शिकायत के बाद (शेष पेज 8 पर)1. धारा 356 का दुरुपयोग लगभग 100 बार कांग्रेस ने किया, चुनी हुई सरकारों को गिराया। अकेले इंदिरा गांधी जी ने ही 50 बार चुनी हुई सरकारों को गिराया।

  1. असल में इन्हें सबसे बड़ी परेशानी यह है कि एक गरीब परिवार में पैदा हुआ व्यक्ति इनकी सल्तनत को चुनौती दे रहा है।
  2. यह जो कहते हैं कि ये अमीरों की सरकार है, तो मैं कहता हूं कि देश के गरीब ही मेरे अमीर हैं। गरीब ही मेरा इमान है, वही मेरी जिंदगी हैं, उन्ही के लिए जीता हूं, उन्हीं के लिए यहां आया।
  3. हम वो नहीं हैं जो चुनौतियों से भागते हैं। हम चुनौतियों का सामना करते हैं और लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए काम करते हैं।
  4. इस बार तो चुनाव में महामिलावट आने वाली है। हेल्थ कॉन्सेस सोसायटी भी मिलावट से दूर रहती है। उसी तरह हेल्दी डेमोक्रेसी वाले भी महामिलावट से दूर रहने वाले हैं।
  5. कुछ लोग मोदी की आलोचना करते – करते देश की आलोचना करने लगते हैं। किसी को भी देश की आलोचना नहीं करनी चाहिये।
  6. आज खडग़े जी ने कहा कि मोदी जी जो बाहर बोलते हैं, वही राष्ट्रपति ने यहां कहा। इसका तात्पर्य है कि आप मानते हैं कि आप बाहर कुछ और अंदर कुछ बोलते हैं और हम हमेशा सच बोलते हैं वो संसद हो या कोई जनसभा।
  7. खडग़े जी ने आज कहा कि मोदी देश की संस्थाओं को बर्बाद कर रहा है। ये तो वही बात हुई कि उल्टा चोर चौकीदार को डांटे।
  8. देश में आपातकाल थोपा कांग्रेस ने, लेकिन कहते हैं मोदी संस्थाओं को बर्बाद कर रहा है। सेनाध्यक्ष को गुंडा कांग्रेस ने कहा, और कहते हैं मोदी संस्थाओं को बर्बाद कर रहा है।
  9. कांग्रेस ने मंत्रीमंडल के निर्णय, कैबिनेट के फैसलों को प्रेस कांफ्रेंस में फाड़ा था। मोदी पर उंगली उठाने से पहले कांग्रेस को पता होना चाहिए कि बाकी की चार उंगली आपकी तरफ होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.