Saturday , 19 October 2019
Top Headlines:
Home » Sports » वल्र्डकप की तैयारियों को तगड़ा झटका

वल्र्डकप की तैयारियों को तगड़ा झटका

कोहली की कप्तानी में घरेलू मैदान पर भारत पहली बार सीरीज हारा
2-0 से पिछडऩे के बावजूद सीरीज जीते कंगारू
नई दिल्ली (एजेंसी)। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पांच वनडे की सीरीज में 3-2 से हरा दिया। इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने एरॉन फिंच की कप्तानी में पहली सीरीज अपने नाम कर ली। फिंच की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया की यह चौथी सीरीज थी। वहीं, कोहली की अगुआई में टीम इंडिया पहली बार वनडे सीरीज हारी है। इससे पहले टीम इंडिया उनकी कप्तानी में पांच वनडे सीरीज खेली थी, सभी में जीत हासिल की थी।
भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 10 साल बाद घर में सीरीज हारी है। पिछली बार ऑस्ट्रेलिया ने 2009 में छह वनडे की सीरीज में भारत को 4-2 से हराया था। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अब तक 182 द्विपक्षीय वनडे सीरीज खेली। पहली बार वह 0-2 से
पिछडऩे के बाद सीरीज जीत पाई है। साथ ही भारतीय टीम पहली बार 2-0 से बढ़त लेने के बाद सीरीज
हारी है।
उस्मान ख्वाजा का शतक,
जम्पा ने तीन विकेट लिए
ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। उसने 50 ओवर में नौ विकेट पर 272 रन बनाए। उसके लिए उस्मान ख्वाजा ने सर्वाधिक 100 रन बनाए। उनके अलावा पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 52 रन बनाए। भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। 273 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया 50 ओवर में 10 विकेट पर 237 रन ही बना सकी। उसके लिए रोहित शर्मा ने 56, भुवनेश्वर कुमार ने 46 और केदार जाधव ने 44 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के लिए एडम जम्पा ने तीन विकेट लिए।
शिखर-विराट सस्ते में आउट
273 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। उसे दिल्ली के लोकल बॉय शिखर धवन के रूप में 5वें ओवर में पहला झटका लगा। शिखर को 12 रनों के निजी स्कोर पर पैट कमिंस ने एलेक्स कैरी के हाथों कैच कराया। स्कोर 50 रन के पार पहुंचा ही था कि विराट कोहली स्टोइनिस की एक बाहर निकलती गेंद को छेड़ बैठे। गेंद सीधे विकेटकीपर कैरी के दस्ताने में जा समाई। कप्तान कोहली 22 गेंदों में 20 रन बनाकर आउट हुए। उनके और रोहित के बीच दूसरे विकेट के लिए 53 रनों की साझेदारी हुई।
कप्तान के आउट होने के बाद एक बड़ी साझेदारी की जरूरत थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। ऋषभ पंत अच्छी शुरुआत करने के बाद 16 रन बनाकर नाथन लियोन की गेंद पर आउट हो गए तो विजय शंकर (18) को एडम जाम्पा ने उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच आउट कराकर पविलियन भेजा। अब भारत का स्कोर 120 पर 4 विकेट हो गया।
जीवनदान मिलने के बाद आउट हुए रोहित
एक छोर पर गिरते विकेट का रोहित शर्मा पर भी असर देखने को मिला। 29वें ओवर में एडम जाम्पा को बड़ी हिट लगाने के लिए वह आगे निकल आए, लेकिन बल्ला उनके हाथ से छूट गया। कैरी ने फुर्ती दिखाई और स्टंपिंग करने में देर नहीं लगाई। रोहित ने 89 गेंदों में 4 चौके की मदद से 56 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्हें एडम जाम्पा की गेंद पर दो बार जीवनदान भी मिला। उनका कैच विकेट के पीछे कैरी ने छोड़ा तो दूसरी बार मैक्सवेल ने। हालांकि वह इसका फायदा नहीं उठा सके। इसी ओवर में नए बल्लेबाज रविंद्र जडेजा (0) भी स्टपिंग हुए।
भुवी और केदार जाधव ने जोड़े 91 रन
रोहित शर्मा और रविंद्र जडेजा के एक ही ओवर में आउट होने के बाद भारतीय टीम जबरदस्त दबाव में आ गई। पिच पर नए बल्लेबाज भुवनेश्वर कुमार और केदार जाधव थे। क्राउड पूरी तरह शांत था और इन दोनों ने संभलकर खेलना शुरू किया। केदार जाधव और भुवी ने जब छक्के लगाए तो एक बार फिर भारतीय फैंस को जीत की उम्मीद बंधी। 43वें ओवर में भारत के 200 रन पूरे हुए। हालांकि, भुवी 46वें ओवर की आखिरी गेंद पर पैट कमिंस को बड़ी हिट लगाने के चक्कर में फिंच के हाथों लपक लिए गए। उन्होंने शानदार बैटिंग करते हुए 54 गेंदों में 3 चौके और 2 छक्के की मदद से 46 रनों की पारी खेली। भुवी और केदार के बीच 7वें विकेट के लिए 91 रनों की साझेदारी हुई, जो भारतीय पारी की सबसे बड़ी थी।
अगले ही ओवर में केदार जाधव (44) भी चलते बने। उन्हें जे. रिचर्डसन की गेंद पर मैक्सवेल ने कैच किया। अब भारत की जीत की आस टूट
चुकी थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को मैच जीतने में कोई दिक्कत नहीं हुई। मेहमान टीम के लिए एडम जाम्पा ने 3 विकेट झटके, जबकि पैट कमिंस, जे. रिचर्डसन और मार्कस स्टोइनिस ने दो-दो विकेट अपने नाम किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*