Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Udaipur » लोगों को अच्छा लाभ देने का झांसा दे 20 करोड़ निवेश करवाकर कंपनी फरार

लोगों को अच्छा लाभ देने का झांसा दे 20 करोड़ निवेश करवाकर कंपनी फरार

उत्तरप्रदेश की कंपनी के खिलाफ गोवर्धनविलास थाने में दर्ज हुआ मामला
उदयपुर। शहर के गोवर्धन विलास थाना क्षेत्र में कुछ लोगों ने एक कंपनी और उसके निदेशकों व अधिकारियों के खिलाफ निवेश करने पर अच्छी आय होने का झांसा देकर आमजन से करोड़ों रूपये की वसूली कर हड़पने वाली कंपनी व आरोपियों के खिलाफ में मामला दर्ज किया करवाया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार परिवादी गणेशलाल कुम्हार पुत्र कस्तूरचंद कुम्हार निवासी रामपुरा संख्या गेस्ट हाउसगली उदयपुर, गोतमलाल पुत्र केसाजी निवासी चम्पा कॉलोनी दुधियागणेश जी, हिरालाल पुत्र कस्तूरचंद कुम्हार निवासी चम्पा कॉलोनी दुधियागणेश जी, फतहलाल पुत्र प्रेमचंद मीणा निवासी उपला गुड़ा नाई, भग्गा उर्फ भगवतीलाल पुत्र लाडू जी निवासी डोडावली, रचना पत्नी ओमदत्त शर्मा निवासी प्रगतिनगर सज्जनगढ़ मल्लातलाई, टेंकचदं पुत्र मोड़ीलाल निवासी नाई, उंकार पुत्र सवाजी निवासी डोडावली, शंकर पुत्र प्रेमजी निवासी नाल, केसुलाल पुत्र ककुआ निवासी खण्डेर पोपटी, प्रेम पुत्र कमलिया निवासी खण्डेर पोपटी, केसु पुत्र सवा निवासी चोकडिय़ा, मोहनलाल पुत्र वेसा निवासी अलसीगढ़, शंकर पुत्र वैसा निवासी अलसीगढ़, देवीलाल पुत्र भैरा मीणा निवासी बिल्सीया झाड़ोल, अम्बालाल पुत्र चेना डागलिया निवासी बिल्सीया झाड़ोल, रोड़ा पुत्र भेरा निवासी कालीवास, गणेश पुत्र हकरा गमेती निवासी नोरा सहित ३९ लोगों ने परिवाद जरिये केबीसीएल (कल्पतरू ग्रुप अन्र्तगत केबीसीएस इण्डिया लिमिटेड़, कल्पतरू बिल्डटेक लिमिटेड, कत्पतरू इंश्योरेंन्स कार्पोरेशन लिमिटेड़, कल्पतरू रेजिडेंसी और कल्पतरू एक्सप्रेस) रजिस्टर्ड कार्यालय प्रथम कल्पतरू कॉम्प्लेक्स, औरंगाबाद आगरा रोड़ मथुरा यूपी, रजिस्टर्ड कार्यालय द्वितीय फस्र्ट फ्लोर जेडी बिजनेस सेंटर, नियर सचदेवा इंजीनियरिंग कालेज एनएच 2 फराह मथुरा उत्तरप्रदेश के प्रबंधक मथुरा निवासी जयकृष्णसिंह राणा के अलावा आगरा मथुरा में रहने वाले अन्य अधिकारीे शशिकान्त मिश्रा, विश्वनाथ प्रतापसिंह, राकेश कुमार, पुष्पेन्द्रसिंह, विजय मिश्रा, चंचल चतुर्वेदी, बालकृष्ण शर्मा, किरणभाई, ललित कुमार, विपिन यादव, राजकुमार, मंजीत कुमार, जितेन्द्र बोहरा, हेमन्त कोशिक, जितेन्द्रसिंह सिकवार, जवानसिंह, सविता पटनायक, बालचन्द्र पटनायक, जितेन्द्रकुमार, लक्ष्मणसिंह, विनय कुमार, मनीष कुमार सहित ३२ आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। दर्ज प्रकरण में पीडि़तों ने बताया कि आरोपी कंपनी आमजन को निवेश करने पर अच्छा लाभ देने का झांसा देकर पैसे वसूली है। वर्ष २००६ में आरोपियों ने परिवादियों से सम्पर्क किया तथा कंपनी के संबंध में जानकारी दी। आरोपियों ने बताया कि कंपनी भारत सरकार से मान्यता प्राप्त होकर कंपनी की देश में ९४ शाखाएं होकर २५ फिल्ड एडवाईजर के काम करने की जानकारी दी। आरोपियों ने पीडि़तों को कंपनी द्वारा आरड़ी, एफड़ी, एमएस सेविंग के माध्यम से रूपये प्राप्त कर निर्धारित पर परिपक्वता पूरी होने पर उदयपुर शहर से ३० किलोमीटर परिधी में भूखण्ड अथवा लाभ सहित नकदी लौटाने की योजनाएं बताई। इस दौरान ज्यादा ग्राहक बनाने पर प्रोत्साहन राशी भी देने का आरोपियों ने आश्वासन दिया। इस पर उदयपुर शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों से ५ हजार लोगों ने २० करोड़ रूपये आरोपियों मथुरा स्थित कंपनी कार्यालय में जमा करवाए। परिपक्व होने पर आरोपियों से संम्पर्क किया तो आरोपियों ने सभी पीडि़तों से दस्तावेज लेकर जल्द ही भुगतान खाते में जमा करवाने का आश्वासन दिया। लेकिन आज दिन तक आरोपियों ने किसी प्रकार का भुगतान नहीं किया। इस संबंध में संपर्क किया तों कंपनी के आगरा एवं मथुरा स्थित कार्यालय बंद पाए गए। इस मामले में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.