Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Political » राहुल-शरद पर नीतीश का ‘परकटी’ तंज

राहुल-शरद पर नीतीश का ‘परकटी’ तंज

सीएम ने किया मंत्री का बचाव

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में लड़कियों के साथ रेप की घटना पर मचे बवाल के बाद सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को विपक्ष के हमलों पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मसले पर केवल राजनीति हो रही है। सीएम ने कहा कि वह इस घटना से शर्मसार हैं और उनकी सरकार ने इस घटना की हाई कोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच की मांग की है। नीतीश ने दिल्ली में राजद के नेतृत्व में मुजफ्फरपुर कांड पर आयोजित विपक्ष के धरने पर जमकर निशाना साधा। सीएम ने जदयू के पूर्व नेता शरद यादव को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि धरना में बैठे लोग इतने संवेदनशील मुद्दे पर हंस रहे थे। यहां तक कि महिलाओं के खिलाफ अपशब्द बोलने वाले नेता हाथ में कैंडल लेकर मार्च कर रहे थे। नीतीश ने इस मामले में नाम आने वाले मंत्री मंजू वर्मा का बचाव भी किया। नीतीश ने साथ ही कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
‘मेरी चुप्पी का गलत मतलब निकालाÓ
सीएम नीतीश ने कहा कि उनकी सरकार ने ही इस मामले की जांच कराई थी। उन्होंने कहा, मेरी चुप्पी का गलत मतलब निकाला गया है। हमने हाई कोर्ट से इस मामले की जांच उनकी निगरानी में कराने की मांग की है। टीआईएसएस की रिपोर्ट के बाद हमने ऐक्शन लेना शुरू कर दिया है। सरकार द्वारा प्रशासनिक कार्रवाई की जा रही है। हमने इस घटना की जांच सीबीआई से कराने का आदेश दिया है।
दिल्ली में विपक्ष के धरने पर जमकर निशाना
नीतीश कुमार ने विपक्ष के धरने पर चुन-चुनकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, राजनीतिक हमला किया जा रहा है। समय आएगा तो इधर से भी जवाब मिलेगा और तब बात समझ में आएगी। इस तरह के संवेदनशील मुद्दे पर आयोजित धरने में लोग हंस रहे थे। कौन-कौन लोग उस कैंडल मार्च में शामिल थे। महिलाओं के प्रति अपशब्द बोलने वाले नेता भी इसमें शामिल थे। उनके अपशब्द के कारण उनकी (शेष पेज 8 पर)यूपी में मुजफ्फरपुर जैसा घिनौना कांडनारी संरक्षण गृह में देह व्यापार का खुलासा, डीएम को हटायादेवरिया। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की तरह ही देवरिया नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार कराए जाने का खुलासा हुआ है। संरक्षण गृह से भागी एक बालिका ने रविवार शाम को यह जानकारी दी। रात में पुलिस ने छापा मारा तो संरक्षण गृह से 18 लड़कियां गायब मिलीं। पुलिस ने संचालिका और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देवरिया कांड पर बड़ी कार्रवाई करते हुए डीएम सुजीत कुमार को हटा दिया है और दो अफसरों को निलंबित कर दिया है। मामले पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर का कहना है कि मामले की समग्र जांच की जाएगी। जिला प्रशासन कार्रवाई कर रहा है।
रविवार देर रात पुलिस अधीक्षक रोहन पी. कनय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह की सूची में 42 लडकियां दर्ज हैं। लेकिन छापे में मौके पर केवल 24 मिलीं। बाकी का पता किया जा रहा है। नारी संरक्षण गृह के बारे में लंबे समय से शिकायत मिल रही थी। अनियमितताओं के कारण इसकी मान्यता जून 2017 में समाप्त कर दी गई थी। सीबीआई ने भी संरक्षण गृह को अनियमितताओं में चिह्नित कर रखा है। संचालिका हाईकोर्ट से स्थगनादेश लेकर इसे चला रही हैं।
एक बच्ची ने खोली पोल
एसपी ने बताया कि बिहार के बेतिया जिले की 10 साल की बच्ची देर शाम को किसी तरह संरक्षण गृह से निकलकर महिला थाने पहुंची। वहां उसने संरक्षण गृह की अनियमितताओं के बारे में जानकारी दी। बच्ची के मुताबिक, वहां शाम चार बजे के बाद रोजाना कई लोग काले और सफेद रंग की कारों से आते थे और मैडम के साथ लड़कियों को लेकर जाते (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.