Saturday , 19 October 2019
Top Headlines:
Home » Rajasthan » राजे के संगठन में जाते ही तय था कटारिया का नेता प्रतिपक्ष बनना

राजे के संगठन में जाते ही तय था कटारिया का नेता प्रतिपक्ष बनना

समर्थकों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने की आतिशबाजी, मिठाई बांटी
नगर संवाददाता & उदयपुर
भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया दूसरी बार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बने है। वसुन्धरा को भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद से ही यह तय माना जा रहा था कि गुलाबचंद कटारिया ही विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनेंगे। कटारिया इससे पहले वे वर्ष 2012 में एक वर्ष के लिए बने थे और वसुन्धरा राजे ने सुराज संकल्प यात्रा निकाली थी। संगठन ने कटारिया को दूसरी बार विधानसभा में नेता प्रतितपक्ष बनाया है और भाजपा के सभी विधायकों ने इसके लिए सहमति दी।
जानकारी के अनुसार भाजपा की प्रदेश में हार के बाद से ही विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने को लेकर खींच-तान चल रही थी। पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे स्वयं यह नेता प्रतिपक्ष बनना चाहती थी, ताकि आने वाले पांच सालों तक वे भाजपा विधायकों का नेतृत्व करें, वहीं कटारिया भी चाहते थे कि इस बार वे नेता प्रतिपक्ष बने। इधर संगठन ने एक बड़ा फैसला लेते हुए वसुन्धरा राजे को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया, जैसे ही भाजपा के राष्ट्रीय संगठन ने यह निर्णय लिया तो कटारिया का नेता प्रतिपक्ष बनना तय माना जा रहा था और कटारिया इसके लिए प्रयास भी कर रहे थे। कटारिया प्रदेश मेें जीते हुए सभी विधायकों में सबसे ज्यादा वरिष्ठ है। ऐसे में रविवार को जयपुर में हुई बैठक में आखिरकार यह निर्णय ले ही लिया कि कटारिया नेता प्रतिपक्ष बन गए। इधर उपनेता राजेन्द्रसिंह राठौड़ को बना दिया गया।
जानकारी के अनुसार कटारिया इससे पहले वर्ष 2012 में कुछ समय के लिए नेता-प्रतिपक्ष बने थे और इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा की सरकार बन गई और पांच साल के अंतराल के बाद वसुन्धरा राजे पुन: मुख्यमंत्री बन गई। वर्ष 2018 में फिर से हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनी। इस बार मामला भी नेता प्रतिपक्ष को लेकर चल रहा था और आखिरकार केन्द्र ने निर्णय लिया और कटारिया को नेता प्रतिपक्ष बना ही दिया। कटारिया के नेता प्रतिपक्ष बनने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उत्साह एवम उमंग से आतिशबाजी कर मिठाई वितरण किया। मीडिया प्रभारी चंचलकुमार अग्रवाल ने बताया कि जैसे ही संसदीय दल द्वारा गुलाबचन्द कटारिया को नेता प्रतिपक्ष घोषित किया भाजपा कार्यकर्ताओं में हर्ष व्याप्त हो गया। सभी ने एक दूसरे को बधाई प्रेषित की। इस अवसर पर भाजपा कार्यालय पर उपस्थित कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी कर मिठाई वितरण किया। इस मौके पर शहर जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट, प्रन्यास के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र श्रीमाली, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुंतीलाल जैन, महामन्त्री किरण जैन, बडग़ांव प्रधान खूबीलाल पालीवाल, मंडल अध्यक्ष अतुल चंडालिया, शंभू जैन, मनोहर चौधरी, दीपक बोलिया कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।
भाजपा के सबसे वरिष्ठ विधायक
उदयपुर शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया भाजपा में वर्तमान में जीते हुए विधायकों में सबसे वरिष्ठ है। प्रदेश मेें जीते 74 विधायकों में कटारिया 8वीं बार विधायक बने है और इससे पहले एक बार उदयपुर सांसद भी रह चुके है। ऐसे में वर्तमान में कोई भी भाजपा विधायक कटारिया के आस-पास भी नहीं है।
राजे तो नहीं बनी अपने खास समर्थक को बना दिया उपनेता : भले ही पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को संगठन ने नेता प्रतिपक्ष नहीं बनाया हो, परन्तु राजे ने अपनी पहुंच का इस्तेमाल कर राजेन्द्रसिंह राठौड़ को विधानसभा का उपनेता बना दिया। राठौड़ पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के खास माने जाते है। ऐसे में राठौड़ के उपनेता बनने पर वसुन्धरा की किसी ना किसी रूप से प्रतिपक्ष पर खास पकड़
रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*