Thursday , 18 October 2018
Top Headlines:
Home » Political » मोदी ने दिया नया नारा- ‘अजेय भारत, अटल भाजपा’

मोदी ने दिया नया नारा- ‘अजेय भारत, अटल भाजपा’

2019 जीते तो 50 साल तक भाजपा को कोई हटा नहीं सकेगा

नई दिल्ली। भाजपा की दिल्ली में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के आखिरी दिन रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर तीखा हमला बोला और पार्टी के लिए नया नारा ‘अजेय भारत, अटल भाजपाÓ दिया। उन्होंने इस नारे को अटलजी को समर्पित किया। दूसरी तरफ भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 2019 में भाजपा फिर जीतेगी और अगले 50 सालों तक उसे कोई नहीं हरा पाएगा। कार्यकारिणी बैठक खत्म होने के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी और अमित शाह के भाषणों की मुख्य बातों को बताया।
महागठबंधन पर तीखा तंज
प्रधानमंत्री ने महागठबंधन को स्वार्थ का गठबंधन बताते हुए कहा कि महागठबंधन का मतलब है- नेतृत्व का पता नहीं, नीति अस्पष्ट, नीयत भ्रष्ट। रविशंकर प्रसाद ने कहा, आज महागठबंधन की चर्चा है, जो लोग एक दूसरे को देख नहीं सकते, एक दूसरे के साथ चल नहीं सकते लेकिन आज साथ आने को मजबूर हैं, यह हमारी जीत है, हमारी कामयाबी है कि बिना साझा विचारों के वे साथ आने को मजबूर हैं। प्रसाद ने पीएम के भाषण के हवाले से कहा, कांग्रेस के नेतृत्व को कोई स्वीकार करने को तैयार नहीं है। छोटे-छोटे दल भी कांग्रेस नेतृत्व को स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं, कई तो उसे बोझ मानते हैं। यहां तक कि कांग्रेस के भीतर भी नेतृत्व को लेकर सवाल उठ रहे हैं।
हमारे लिए सत्ता का मतलब कुर्सी नहीं
रविशंकर प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात का उदाहरण देकर बताया कि वहां 31 सालों से हमारी सरकार है क्योंकि हमें सत्ता का अहंकार नहीं है। उन्होंने पीएम के हवाले से कहा, 31 साल से हम गुजरात में शासन में हैं, वह गांधीजी और पटेल की धरती है। यह इसलिए हो पाया कि हमें सत्ता का अहंकार नहीं है। हम सत्ता को कुर्सी के तौर पर नहीं देखते बल्कि जनता के लिए काम करने का उपकरण समझते हैं। हम संकल्प के लिए जीते हैं। हमारी नीति भी है और रणनीति भी है।
कांग्रेस पर वार- जो सत्ता में फेल हुए, विपक्ष में भी फेल हुए
प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें कहीं भी चुनौती नजर नहीं आती और स्वाभाविक तौर पर यह बात 2019 के संदर्भ में कही। कांग्रेस पर विपक्ष में रहते हुए भी फेल होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, लोकतंत्र में विपक्ष होना चाहिए, उनके सवाल लोकतंत्र की मजबूती हैं लेकिन हमारी पीड़ा यह है कि जो सत्ता में फेल हुए, वे विपक्ष में भी फेल हुए हैं। कभी भी किसी फेयर मुद्दे पर बात नहीं उठाई।
कांग्रेस मुद्दों पर नहीं, झूठ पर लड़ती है
प्रसाद ने प्रधानमंत्री के भाषण के हवाले से बताया, हमारे विचारों पर, हमारे काम पर सवाल उठाइए हम तैयार हैं। सवाल यह भी उठेगा कि 48 साल परिवार के और 48 महीने हमारे। आपने किसके लिए काम किया, इस पर भी तो चर्चा होगी। कांग्रेस पर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, वे न मुद्दों पर लड़ते हैं न काम पर लड़ते हैं, सिर्फ झूठ पर लड़ते हैं। हम नीति के साथ लडऩे को तैयार हैं लेकिन झूठ के खिलाफ नहीं। हम रणनीति के साथ उनके हर झूठ का जवाब देंगे।
प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने का नारा दिया लेकिन गरीबों को भला नहीं हुआ। उन्होंने कहा, कांग्रेस ने कहा गरीबी हटाना है और गरीबी हटाने के नाम पर बैंकों का राष्ट्रीयकरण हुआ, कोयले के खदानों का राष्ट्रीयकरण हुआ लेकिन बाद में कांग्रेस ने स्वीकार किया कि गलती हुई। कांग्रेस ने फिर कहा कि रिफॉर्म (आर्थिक सुधार) करना है, नए रास्ते पर जाना है। गरीबों को कोई फायदा नहीं हुआ।
बूथ हमारा किला, कार्यकर्ता उसे अजेय बनाएं
प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में 2019 में फिर जीत का मजबूत भरोसा जताया। उन्होंने कहा, हम विजय का विश्वास लेकर चल पड़े हैं, और इस विश्वास का आधार है- सवा सौ करोड़ देशवासियों का प्यार। काम की बदौलत जनता का आशीर्वाद मिलेगा। एक-एक पोलिंग बूथ को जीतना है, कार्यकर्ताओं को इसमें जुटना है। बूथ हमारी चौकी है और संगठन व सरकार का किला। वह मजबूत होना चाहिए, इसके लिए कार्यकर्ताओं को जुटना होगा। पीएम मोदी ने कहा, हमारे पास प्रतिबद्धता है, नेतृत्व है, विचारधारा है, कार्यकर्ताओं की ताकत है। हमें उनके झूठ के तंत्र को तोडऩा है। (शेष पेज 8 पर)विपक्ष के पास न नेता-न नीति
भाजपा ने पेश किया ‘विजन 2022Ó
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने 2019 में जबरदस्त जीत हासिल करने और 2022 में नये भारत के निर्माण का विश्वास व्यक्त किया। पार्टी ने कहा कि भाजपा के पास कार्यक्रम है, नेता है, नीति है और रणनीति भी है लेकिन विपक्ष के पास कुछ भी नहीं है और वह ‘मोदी हटाओÓ की नकारात्मक राजनीति कर रहा है जिसे जनता स्वीकार नहीं करेगी।
केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ ङ्क्षसह ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश करते अपने संबोधन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता ‘आओ मिल कर दीप जलाएंÓ की तर्ज पर पार्टी कार्यकर्ताओं को नया नारा दिया, ‘आओ मिल कर कमल खिलाएं।Ó मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में राजनीतिक प्रस्ताव की विषय वस्तु की जानकारी दी।
ङ्क्षसह ने कहा कि 2019 में भाजपा जबरदस्त जीत हासिल करने जा रही है। भाजपा के पास कार्यक्रम है, नेता है, नीति है और रणनीति भी है लेकिन विपक्ष के पास ना नेता है, ना नीति है और ना ही रणनीति है। वह हताश है और नकारात्मक सोच के कारण विकल्प ढूंढऩे में लगा है। विपक्ष केवल ‘मोदी रोको अभियानÓ चला रहा है जिसमें उसे जनता का साथ नहीं मिलेगा। आम लोग सशक्त हुए हैं और वे देश की तरक्की को इसी गति से जारी रखने के पक्ष में हैं।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की जोड़ी के परिश्रम से भाजपा की गतिविधियां तेजी से बढ़ी हैं और वह 6 राज्यों से बढ़कर 19 राज्यों में सत्ता में आ गयी है। यह लक्ष्य जनता से सीधे संवाद से पूरा हुआ है। ङ्क्षसह ने प्रस्ताव में कहा कि सरकार की विकास योजनाओं की बदौलत वर्ष 2022 तक नये भारत के निर्माण का सपना पूरा होगा। वर्ष 2022 में देश गरीबी, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, जातिवाद और संप्रदायवाद से मुक्त हो जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की दृष्टि, लगन और परिकल्पना की बदौलत सबका साथ सबका विकास से नये भारत का सपना पूरा हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.