Monday , 17 December 2018
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » मोदी के खिलाफ राहुल के साथ सड़क पर अधूरा विपक्ष

मोदी के खिलाफ राहुल के साथ सड़क पर अधूरा विपक्ष

सपा-बसपा ने बनाई दूरी

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस ने सोमवार को ‘भारत बंदÓ किया। कांग्रेस को इस बंद में 21 विपक्षी पार्टियों का समर्थन मिला, लेकिन राहुल गांधी के साथ मंच पर कई सहयोगी दल के नेता नजर नहीं आए। ऐसे में कहा जा सकता है कि मोदी के खिलाफ सड़क पर कांग्रेस अधूरा विपक्ष को लेकर उतरी है।
भारत बंद के खिलाफ कांग्रेस को भले ही 21 दलों ने समर्थन दिया हो, लेकिन सपा और बसपा जैसे बड़े दलों का कोई भी नेता दिल्ली में राहुल गांधी के मंच पर नजर नहीं आया। जबकि विपक्ष दलों की ओर से शरद पवार, शरद यादव जैसे बड़े नेता धरना प्रदर्शन में मौजूद रहे।
सोमवार को उत्तर प्रदेश में किसानों की परेशानियों, पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दाम एवं मंहगाई, कानून व्यवस्था की बदहाली, बढ़ते भ्रष्टाचार और छात्रों-नौजवानों के दमन के खिलाफ सपा कार्यकर्ताओं सूबे के हर जिला तथा तहसील मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया।
वहीं, बसपा ने जरूर कांग्रेस के भारत बंद को समर्थन किया है। इसके बावजूद न दिल्ली न यूपी कहीं भी बसपा कार्यकर्ता और न ही नेता नजर आये। इतना ही नहीं राहुल गांधी के साथ मंच पर भी कोई बसपा का नेता उपस्थित नहीं था।
जबकि इससे पहले कांग्रेस द्वारा विपक्ष की तमाम दलों की बुलाई जाने वाली बैठकों में बसपा अध्यक्ष मायावती भले ही न आती रही हों, लेकिन पार्टी महासचिव सतीश चंद्र मिश्र जरूर उपस्थित रहते थे।बंद के दौरान मासूम की मौतनई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में लगातार वृद्धि और बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस एवं कुछ विपक्षी दलों द्वारा आहूत बंद को विफल करार देते हुए सोमवार को कहा कि जनता का साथ नहीं मिलने से गुस्से एवं खीज में आकर विपक्ष ङ्क्षहसा पर उतारू हो गया है और देश में खौफ का माहौल बना रहा है।
भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लोकतंत्र में विरोध का अधिकार सबके पास होता है लेकिन यह विरोध ङ्क्षहसा से किया जा रहा है। देशभर में पेट्रोल पंप जलाये जा रहे हैं। बसें और कारें तोड़ी जा रही हैं। बिहार के जहानाबाद में बंद समर्थकों की भीड़ द्वारा एम्बुलेंस रोके जाने के कारण एक मासूम बच्ची की मौत हो गयी है। उन्होंने पूछा कि आखिर इस ङ्क्षहसा और उस बच्ची की मौत का कौन जिम्मेदार है। प्रसाद ने कहा कि जनता बंद के साथ नहीं खड़ी है। इससे कांग्रेस और विपक्ष के लोग गुस्से में खीज कर हिंसा कर रहे हैं। देश में खौफ का माहौल बनाया जा रहा है। जनता का समर्थन (शेष पेज 8 पर)’भारत बंदÓ में शामिल नहीं हुई मिजोरम कांग्रेस
नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत के विरोध में ‘भारत बंदÓ का आह्वान किया गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्ष एकजुट हुआ लेकिन खुद मिजोरम कांग्रेस इस विरोध में शामिल नहीं हुई। कांग्रेस ने भारत बंद के लिए सभी विपक्षी दलों को साथ आने को कहा था। जिसके बाद जनता दल सेकुलर (जेडी-एस), तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), लोकतांत्रिक जनता दल (एलजेडी), राष्ट्रीय लोक दल, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और आम आदमी पार्टी (आप) उन विपक्षी पाटिर्यों में रहे, जिन्होंने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया। इसके बाद कांग्रेस ने दावा किया कि उसके भारत बंद को 21 विपक्षी दलों का समर्थन हासिल है। लेकिन मिजोरम में जहां कांग्रेस की सरकार है, वहां ‘भारत बंदÓ का असर नजर नहीं आया। यहां दुकानें, कार्यालय और स्कूल-कॉलेज खुले रहे। मिजोरम प्रदेश कांग्रेस समिति (एमपीसीसी) और विपक्षी दल, कोई भी इसमें शामिल नहीं हुआ। एमपीसीसी के उपाध्यक्ष और राज्य के गृह मंत्री आर लालजिरलांगा ने बताया कि राज्य में ‘भारत बंदÓ में शामिल होने के बारे में चर्चा नहीं हुई, न ही इस मुद्दे पर किसी बैठक का आयोजन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.