Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » ‘मुंह खोलते ही एके-47 की तरह निकलता है झूठ’

‘मुंह खोलते ही एके-47 की तरह निकलता है झूठ’

राहुल का नाम लिए बिना बोले मोदी
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर, राजस्थान के कोटा और सीकर, छत्तीसगढ़ के कोरबा और मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नमो ऐप के जरिए बातचीत की। बुलंदशहर के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान प्र.म. मोदी ने कहा, कुछ नेता झूठ की मशीन की तरह हैं। जब भी मुंह खुलता है, धड़-धड़ एके-47 की तरह झूठ ही निकलना शुरू हो जाता है। ऐसे में आपको विपक्ष के झूठ को भी जनता के सामने बेनकाब करना है।
एक कार्यकर्ता के सवाल के जवाब में मोदी ने कहा कि लगभग 1.25 करोड़ परिवारों को घर की चाभी दी जा चुकी है। आयुष्मान भारत के तहत गरीबों को 5 लाख रूपये का बीमा किया गया है। सभी लोगों को जन धन खाता से जोड़ा गया है। योजनाओं का फायदा सीधे उनके अकाउंट में जा रहा है। लोन लेने के लिए गरीबों को अब साहूकारों के पास जाने की जरूरत नहीं रह गई है। जिनके पास पैसे नहीं है उनके लिए मुद्रा योजना और स्टार्ट-अप योजना की शुरूआत की गई है। बैंक सभी लोगों के लिए अपने दरवाजे खोल दिए हैं।
एक सवाल के जवाब में प्र.म. ने कहा कि एमएसएमई सेक्टर के लिए हमने बहुत बड़ा फैसला किया है। हमने एमएसएमई सेक्टर को कई तरह के टैक्स में छूट दी है। सभी कंपनियों के लिए जीईएम प्लेटफॉर्म से जुडऩे को कहा गया है। सरकार से कहा गया है कि 25 फीसदी जरूरत एमएसएमई सेक्टर से पूरा हो। इंस्पेक्टर राज को पूरी तरह खत्म किया गया है। कौन सा इंस्पेक्टर किस कंपनी में निरीक्षण करने जाएगा इसका फैसला अब अधिकारी नहीं कर सकते हैं। इसका फैसला कंप्यूटर के जरिए किया जा रहा है। साथ ही निरीक्षण करने के 48 घंटे के भीतर उनको अपनी रिपोर्ट जमा करनी होगी।
एक कार्यकर्ता ने पूछा कि कार्यकर्ता होने के अलावा हमें कौन सा काम करना चाहिए। इसके जबाव में प्र.म. ने कहा कि राजनीतिक काम के अलावा अपना निजी जीवन भी अच्छे से गुजारना चाहिए। एक कार्यकर्ता को राजनीति के अलावा सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय होना चाहिए। इस साल मैंने बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले बच्चों से बातचीत की। इससे मुझे बहुत सुकून मिला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.