Sunday , 25 August 2019
Top Headlines:
Home » Udaipur » भीड़ देखकर रोडवेज चालकों ने किया बचाव का प्रयास पर नहीं माने उपद्रवी

भीड़ देखकर रोडवेज चालकों ने किया बचाव का प्रयास पर नहीं माने उपद्रवी

उपद्रवियों को देखकर सवारी भी भागे, चालक-परिचालक ने किया विरोध तो हुई मारपीट
उदयपुर। जब 40-50 बाईकों पर सवार एक साथ दर्जनों लोगों ने दोनों रोड़वेज बस का घेराव किया तो दोनों रोड़वेज बसों के चालकों ने विरोध किया, परन्तु मोब ने चालकों की बात नहीं मानी और चालक-खलासी के साथ मारपीट कर सवारियों के साथ धक्का-मुक्की करते हुए अपने साथ लाए पैट्रोल को बस में छिड़क कर आग लगा दी। वो तो शुक्र रहा है कि बस में सवार सवारियां जैसे-तैसे उतरकर भागने में सफल रहीं और उपद्रवियों ने भी उन्हें जाने दिया, अन्यथा यह एक बहुत बड़ा हत्याकांड हो जाता।
जानकारी के अनुसार जिन दो रोड़वेज बसों में आग लगाई गई थी वे बसें पीलादर से करीब सात-आठ किलोमीटर पहले जयसमंद रोड़ पर थी। जैसे ही पीलादर बाईपास पर ग्रामीणों ने जाम लगाया और पुलिस पर पथराव किया तो पुलिस ने भी जवाब में फायरिंग कर दी। इस पर वहां से 40-50 बाईकों पर करीब 100 से अधिक युवा आक्रोशित होकर जयसमंद की ओर जा रवाना हो गए। रास्ते में रोड़वेज की रतलाम-राजसमंद रूट पर चलने वाली रोड़वेज बस को देखकर युवाओं ने अपनी बाईक को इस बस के सामने लगा दी। यह देखकर चालक ने बस रोकी और उपद्रवियों ने रोड़वेज पर पथराव कर दिया और कांच फोडऩे शुरू कर दिए। यह देखकर चालक कृपाशंकर नीचे उतरा तो उसके साथ मारपीट करनी शुरू कर दी। यह देखकर खलासी ओमप्रकाश भी बाहर आया तो उपद्रवियों ने उससे भी मारपीट की। इधर बस में सवारियों में उपद्रवियों को देखकर चीख-पुकार मच गई और सवारियां भी बस से उतरकर भागने लगी। सवारियों को भागता देखकर उपद्रवी बस में घुसे और सवारियों के साथ धक्का-मुक्की करते हुए अपने साथ लाया पैट्रोल बस में छिड़क दिया और आग लगा दी। जिससे बस ने आग पकड़ ली। बस को जलता हुआ देखकर चालक ने बस मेें घुसने का प्रयास किया तो फिर से मारपीट की।
इसी दौरान इस बस के पीछे बांसवाड़ा-उदयपुर चलने वाली रोड़वेज बस आ गई। इस रोड़वेज बस के चालक शंकरलाल रेबारी ने आगे खड़ी रोड़वेज बस से धुआं निकलता हुआ और उपद्रवियों को देखा तो उसने बस मुड़ाने का प्रयास किया। यह देखकर उपद्रवी भागकर मौके पर पहुंचे और इस बस पर भी पथराव करना शुरू कर दिया। बस में सवार चालक ने फिर भी बस मुडाने का प्रयास करता रहा, परन्तु अंदर सवारियों ने चीख-पुकार मचाना शुरू कर दिया। इसके साथ ही उपद्रवी जबरन बस में चढ़ गए और इन युवकों ने बस चालक शंकरलाल और खलासी केसरसिंह के साथ मारपीट कर सवारियों को जबरन बस से उतारना शुरू कर दिया। इसके बाद अपने साथ लाए पैट्रोल को डालकर आग लगा दी। यह देखकर चालक और खलासी भी बस से दूर हो गए। जब बस ने आग पकड़ ली तो उपद्रवी हल्ला मचाते हुए वहां से भाग गए।
घटना के बाद दोनों बसों के चालकों ने इस बारे में रोड़वेज के उदयपुर आगार के मुख्य प्रबंधक महेश उपाध्याय को इस बारे में बताया तो महेश उपाध्याय अपनी टीम के साथ वहां पर गए, तब तक तो बसें जल चुकी थी, हालांकि ज्यादा किसी तरह की जनहानि नहीं होने पर राहत की सांस ली। उपाध्याय बसों के चालकों और खलासी के साथ जावरमाइंस थाने पर गए और वहां पर उपद्रवियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*