Sunday , 20 October 2019
Top Headlines:
Home » Sports » भारत की हुई ‘चांदी’

भारत की हुई ‘चांदी’

sindhu_silver_medalहैदराबाद। रियो ओलंपिक की बैडङ्क्षमटन प्रतियोगिता के महिला एकल मुकाबले में रजत जीतने वाली पीवी ङ्क्षसधू के पिता पीवी रमन्ना ने अपनी बेटी पर नाज व्यक्त करते हुये शुक्रवार को कहा कि उनकी यह उपलब्धि बेमिसाल है।
ङ्क्षसधू को फाइनल मुकाबले में दुनिया की नंबर एक स्पेन की कैरोलिना मारिन के हाथों तीन गेमों में हार का सामना करना पड़ा लेकिन वह देश को रियो ओलंपिक का पहला रजत पदक दिलाने वाली खिलाड़ी बन गयीं।
रमन्ना ने कहा, हम बहुत खुश हैं। बहुत ज्यादा खुशी है। ङ्क्षसधू और कोच पुलेला गोपीचंद ने कड़ी मेहनत की थी और उसे इसका सुखद परिणाम मिला।
उन्होंने कहा, मारिन दुनिया की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं और उनके खिलाफ खेलना किसी के लिये भी आसान नहीं होता। ङ्क्षसधू ने शानदार प्रदर्शन करते हुये पहला गेम जीता। हालांकि वह मुकाबला नहीं जीत सकीं लेकिन अपने खेल से देश का मान रख लिया।
ङ्क्षसधू के माता-पिता दोनों के लिये यह एक ऐसा लम्हा था जिसे वे हमेशा याद रखेंगे। ङ्क्षसधू की मां पी. विजया ने कहा, अपनी बेटी की इस नायाब उपलब्धि पर हम बेहद खुश हैं। ङ्क्षसधू भले ही स्वर्ण पदक से चूक गयीं हों लेकिन उनकी यह उपलब्धि भी बेमिसाल है। उन्होंने जिस प्रकार विश्व की नंबर एक खिलाड़ी मारिन का सामना किया, उस पर हमें गर्व है। उन्हें रियो से बहुत कुछ सीखने को मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*