Tuesday , 16 July 2019
Top Headlines:
Home » International » भारत की सैन्य ताकत से बौखलाया पाक

भारत की सैन्य ताकत से बौखलाया पाक

संयुक्त राष्ट्र में की ‘शिकायत’
संयुक्त राष्ट्र। भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। ‘आतंकवाद के जनकÓ के तौर पर खुद बदनाम हो चुका पड़ोसी मुल्क वैश्विक मंच मिलते ही शांति की बातें करने लगता है। आए दिन कश्मीर राग तो अलापता ही रहता है, अब पाकिस्तान ने भारत की ताकत को लेकर भी आशंकाएं जतानी शुरू कर दी हैं। पाकिस्तान ने नाम लिए बगैर अमेरिका और रूस समेत कई देशों द्वारा भारत को लगातार हथियार बेचे जाने के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में उठाया।
आतंकियों से हमदर्दी रखने वाले पाकिस्तान ने भारत को ‘दोहरा मानकÓ अपनाने वाला बताया है। संयुक्त राष्ट्र स्थित पाकिस्तानी मिशन में प्रथम सचिव जहांजेब खान ने सोमवार को निरस्त्रीकरण से निपटने वाली महासभा की समिति में पारंपरिक हथियारों पर बहस के दौरान भारत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, संकीर्ण सामरिक, राजनीतिक और व्यावसायिक विचारों के आधार पर दक्षिण एशिया के लिए दोहरा मानक वाली नीति का त्याग किया जाना चाहिए।Ó कहा, क्षेत्रीय संतुलन खतरे में पड़ेगा
पाक राजनयिक ने सधे हुए अंदाज में भारत या भारत को हथियार बेचने वाले किसी भी देश का नाम नहीं लिया। हालांकि उनके संदर्भ से साफ था कि वह किसकी ओर निशाना साध रहे हैं। जहांजेब ने कहा कि दक्षिण एशिया में एक देश का सैन्य खर्च काफी हद तक दूसरे देशों से ज्यादा है और इसमें अस्थिरता को बढ़ावा देने और पहले से नाजुक क्षेत्रीय संतुलन को खतरे में डालने की क्षमता है। पाक राजनयिक के बयान से साफ था कि वह भारत की बात कर रहे हैं। हथियारों के हस्तांतरण का जिक्र
उन्होंने कहा, इस्लामाबाद विशेष रूप से अशांत क्षेत्रों में बढ़ते पारंपरिक हथियारों के हस्तांतरण से चिंतित है, जो शांति, सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने की अनिवार्यता से उलट है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अपनी ओर से दक्षिण एशिया में रणनीतिक शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें पारंपरिक बल संतुलन का एक तत्व भी शामिल है। यूएस मदद में कटौती का दर्द भी छलका इसके अलावा उन्होंने अमेरिका द्वारा पाकिस्तान के लिए सैन्य सहायता रोके जाने का भी जिक्र किया और कहा कि इस निर्णय ने उन्हें दुख पहुंचाया है। बता दें कि पिछले माह पेंटागन ने घोषणा की थी कि पाकिस्तान को दी जाने वाली 30 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद रद्द की जा रही है क्योंकि पाकिस्तान देश में हक्कानी नेटवर्क और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने में नाकाम रहा है। क्यों उड़ी है पाकिस्तान की नींद
बता दें कि पिछले महीने भारत और अमेरिका के बीच सीओएमसीएएसए डील हुई है, जिससे कई आधुनिक हथियार और सैन्य तकनीक मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इसके अलावा अमेरिका कई अडवांस्ड मिलिट्री जेट्स और दूसरे हथियार भारत को दे रहा है। यही नहीं, हाल में भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए रूस के साथ आधुनिक एस400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम फाइनल की थी। इसकी अनुमानित लागत 5 अरब डॉलर है। इजरायल से भी भारत ने हाल में कई प्रमुख डिफेंस डील की है। इन सबसे पाकिस्तान की नींद उड़ी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*