Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Udaipur » बंद के दौरान दादागिरी से परेशान व्यापारियों ने नहीं खोली दुकानें

बंद के दौरान दादागिरी से परेशान व्यापारियों ने नहीं खोली दुकानें

सराड़ा। चावण्ड में सोमवार को कांग्रेस के बंद के दौरान कतिपय लोगों द्वारा व्यापारियों की दुकानों के सामान अंदर फेंक शटर बंद करने और व्यापारियों के साथ दादागिरी व बदसलूकी करने से नाराज व्यापारियों ने मंगलवार को अपनी दुकानें नहीं खोली और आक्रोश जताया। आक्रोशित व्यापारी सुबह से बाजार बन्द कर बैठ गए और प्रशासन को आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने तक दुकानों के ताले नहीं खोलने का प्रशासन को अल्टीमेटम दे दिया। इधर व्यापारियों के बन्द ने प्रशासन के पसीने छुड़ा दिये। सुबह से प्रशासन आपसी बातचीत कराने का माहौल बनाने में जुट गया जिस पर सैंकड़ों की संख्या में व्यापारी व ग्रामीण चावण्ड गांव के मुख्य चौराहे पर एकत्र होकर बैठक रखी, जिसमें माहौल खराब करने वाले आरोपियों के पक्ष ने व्यापारियों के साथ करीब तीन घण्टे तक प्रशासन की मौजूदगी में शांतिवार्ता की। आपसी सहमति से आगे कभी इस प्रकार की हरकत नही करने के लिए पाबन्द किया, वहीं वरिष्ठजनों ने आपसी मत भेद भुलाकर आपस में शांति पूर्वक रहने की अपील की। कई शर्तों और नियमों के तहत हुई शांति वार्ता में प्रशासन को भी असामाजिक व समाज कंटकों के खिलाफ कार्रवाही करने को कहा एवं व्यापार संघ की ओर सहयोग करने का आश्वासन दिया। प्रसासन द्वारा असामाजिक तत्वों के खिलाफ कडी कार्यवाही के बाद व्यापारी अपनी प्रतिष्ठान खोलने को राजी हुए हालांकि होटल व नास्ता सेंटरआधा दिन गुजर जाने पर व्यवस्था को देखते हुए स्वैच्छिक रुप से मंगलवार पूरा दिन बन्द ही रखें। व्यापार मण्डल ने आगामी भविष्य में राष्ट्र हित को छोड़कर किसी भी राजनीतिक दल द्वारा आहूत बन्द के लिए राजनीतिक दल को दो दिन पहले सूचना देन पर व्यापार मण्डल विचार विमर्श के बाद निर्णय करेगा। इस अवसर पर व्यापार मण्डल अध्यक्ष मांगीलाल व्यास, सरपंच अम्बालाल मीणा, पूर्व सरपंच कालूमीणा, कातनवाडा सरपंच धनराज मीणा, राजेन्द्र खलुडिया, चावण्ड चौकी एएसआई अमृतलाल मीणा सहित बड़ी संख्या में व्यापार मंडल व ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.