Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Udaipur » पूर्व मंत्री गरासिया ने गोगुंदा में लगाया पदयात्रा का सियासी दांव

पूर्व मंत्री गरासिया ने गोगुंदा में लगाया पदयात्रा का सियासी दांव

उदयपुर। विधानसभा चुनाव के तहत जिले में गोगुंदा विधानसभा क्षेत्र से टिकट लेने की कांग्रेस आलाकमान के सामने अकेले दावेदारी करने वाले पूर्व राज्यमंत्री मांगीलाल गरासिया ने विधानसभा क्षेत्र में चुनावी संदेश देने के लिए पदयात्रा का नया सियासी पैंतरा खेला है। गोगुंदा बाइपास स्थित हनुमान जी मंदिर से पलासमा स्थित पद्मनाथ प्रभु तक जन सम्मान यात्रा निकाल वोट बंटोरने की अपील भी की है। दरअसल, इस यात्रा के पीछे कांग्रेस अपना उद्देश्य बता रही है कि भाजपा की मौजूदा सरकार के कार्यकाल में आदिवासी लोगों को योजनाओं का लाभ लेने के लिए दस्तावेज की फोटोकॉपियां कराने तक ही सीमित कर दिया गया। किसी भी योजना का लाभ लेने के लिए आदिवासी परिवार दस्तावेज भरने, भरवाने की औपचारिकताओं में ही इतना उलझा कि उसे वास्तव में लाभ नहीं मिल सका। पूर्व राज्यमंत्री गरासिया ने इस पदयात्रा में भाजपा पर आरोप लगाए कि पीएम आवास योजना के पंचायतों में जमकर फॉर्म भरवा लिए पर दिए बहुत ही कम। आदिवासी परिवार अपने को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। पदयात्रा दो दिवसीय है, जिसका गुरुवार को पदराड़ा में रात्रि विश्राम होगा। यात्रा की मुख्य जिम्मेदारी गोगुंदा कांग्रेस कमेटी ब्लॉक अध्यक्ष नारायण पालीवाल ने संभाली है। यात्रा के शुभारंभ में देहात कांग्रेस जिलाध्यक्ष और पूर्व उप प्रधान भी शामिल रहे।सभी पंचायतों में नहीं हुए काम
गरासिया ने बताया कि गोगुंदा ब्लॉक में कोटड़ा पंचायत समिति की आने वाली 12 पंचायतों, सायरा पंचायत समिति की 25 पंचायतों और गोगुंदा पंचायत समिति की 25 पंचायतों में योजनाओं के लाभ नहीं मिल सके।
गहलोत गुट को जगी टिकट मिलने की आस
एक तरफ एआईसीसी की स्क्रीनिंग कमेटी में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर अन्य दिग्गज नेताओं के नाम शामिल होने के बाद उदयपुर जिले में गहलोत गुट के पुराने और वरिष्ठ अनुभवी नेताओं को भी उनके विधानसभा क्षेत्र में टिकट मिलने की प्रबल आस जगी है। एआईसीसी दो दिनों से टिकटों पर मंथन कर रही है लेकिन कांग्रेस के लगभग सभी बड़े नेता दिल्ली में अपने राजनीतिक गुरु को खुश कर टिकट लेने की तेज दौड़ लगा रहे हैं। विधानसभा क्षेत्रों में फिर से टिकट मिलने की प्रबल आस में वल्लभनगर से पूर्व संसदीय सचिव गजेन्द्रसिंह शक्तावत, खेरवाड़ा से पूर्व मंत्री दयाराम परमार, गोगुंदा से पूर्व राज्यमंत्री मांगीलाल गरासिया, धरियावद से पूर्व विधायक नगराज मीणा और झाड़ोल से हीरालाल दरांगी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.