Saturday , 21 September 2019
Top Headlines:
Home » Udaipur » पिछोला झील पर पुलिया निर्माण को लेकर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने

पिछोला झील पर पुलिया निर्माण को लेकर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने

शिलान्यास के दौरान कांग्रेस और क्षेत्रवासियों ने किया हंगामाहोटल संचालकों के फायदे के
लिए बन रही पुलिया : कांग्रेस
यातायात दबाव कम करने के लिए बना रहे हैं : निगम
नगर संवाददाता & उदयपुर
नगर निगम द्वारा शहर के गडिय़ा देवरा क्षेत्र में पिछोला झील के उपर बनाई जा रही पुलिया के शिलान्यास के दौरान कांग्र्रेस नेताओं और स्थानीय लोगों ने जमकर विरोध किया। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच में जमकर तू-तू मैं-मैं हुई। भारी विरोध के बीच में पुलिया का शिलान्यास हुआ। निगम का कहना है कि इस पुलिया का निर्माण अंदरूनी क्षेत्र में यातायात के दबाव को कम करने के लिए है, वहीं कांग्रेस नेताओं और स्थानीय लोगों का कहना है कि यह पुलिया का निर्माण होटलों के दबाव में किया जा रहा है और इसके लिए एक ऐतिहासिक दीवार को भी तोड़ा जाएगा।
जानकारी के अनुसार नगर निगम द्वारा गडिय़ा देवरा क्षेत्र में रोवणिया घाट से एक 20 फिट चौड़ी पुलिया निर्माण का प्रस्ताव कुछ समय पूर्व नगर निगम में पास करवाया था। यह पुलिया सामने हनुमान घाट पर महादेव के मंदिर के पास समाप्त होनी थी। निगम ने इसके लिए 9 करोड़ रूपए का बजट भी पास किया है और अभियंताओं ने सर्वे कर दिया। रविवार को नगर निगम द्वारा इस पुलिया निर्माण के शिलान्यास का कार्यक्रम रखा गया था। जिसमें नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, शहर अध्यक्ष रविन्द्र श्रीमाली सहित निगम के पार्षद और समिति अध्यक्ष भी वहां पर पहुंचे। इधर इस पुलिया निर्माण का विरोध कर रहे स्थानीय लेाग, कांग्रेस पदाधिकारी गोपाल नागर के साथ मौके पर गए और पुलिया निर्माण के शिलान्यास का विरोध करने लगे और भाजपा नेताओं से अड़ गए। स्थानीय लोगों और कांग्रेस नेताओं ने इस पुलिया निर्माण का विरोध जताया और आरोप लगाया कि नगर निगम पुलिया निर्माण के लिए हैरिटेज महत्व की दीवार को तोडऩे पर आमादा है। इसके साथ ही आरोप लगाया कि पुलिया तो 20 फिट चौड़ी बनाई जा रही है, परन्तु जहां पर यह पुलिया समाप्त होगी वहां पर 8 फिट का रोड़ ही है और नागानगरी तक गलियों में कही 5 फिट रोड़ है और कहीं पर तो इससे भी कम चौड़ी रोड़ है। स्थानीय लोगों ने कहा कि यहां पर पुलिया निर्माण स्थानीय लोगों के मुसीबत का कारण बन जाएगा और यातायात दबाव से निजात मिलने के बजाए जाम लगेंगे। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि नगर निगम 5 स्टार होटलों के दबाव में आकर इस पुलिया का निर्माण कर सीधा उन्हीं को फायदा पहुंचाना चाह रहा है।
इधर भाजपा नेताओं ने बताया कि इस पुलिया का निर्माण आमजन के लिए हो रहा है और पुलिया के निर्माण से लोगों को राहत मिलेगी। महापौर ने कहा कि अभी केवल चांदपोल पुलिया ही है, ऐसे में इसके उपर यातायात का काफी दबाव रहता है और कई बार तो दिन में कई-कई बार जाम की स्थिति रहती है।
इस जाम से ही निजात दिलाने के लिए नई पुुलिया का निर्माण किया जा रहा है। जिससे दोनों पुलियाओं पर एक तरफा यातायात रहेगा और लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी। अपनी-अपनी बात पर दोनों ही पक्ष अड़े रहे और एक-दूसरे की बात तक सुनने को तैयार नहीं थे। इधर कांग्रेस नेताओं ने इस पुलिया को लेकर न्यायालय की शरण लेकर स्टे लाने की चेतावनी दी तो वहीं पर मौजूद महापौर कोठारी ने भी इन लोगों को कोर्ट जाने के लिए कहा। इस दौरान भाजपा की ओर से क्षेत्रीय पार्षद रेखा पालीवाल, गणपत सोनी, उपमहापौर लोकेश द्विवेदी, विद्युत समिति अध्यक्ष महेश त्रिवेदी, पार्षद अतुल चंडालिया, पंकज भंडारी, विजय प्रजापत, पूर्व पार्षद कमलेश जावरिया, दुर्गेश शर्मा मौजूद रहे और कांग्रेस की ओर से सुरेश अजमेरा, आशीष पालीवाल, गौरव आमेटा, विक्की पंवार, अंश शर्मा, मधु कुमावत, भरत वसीटा, शेलेन्द्र सिंह पंवार, निखिल पालीवाल सहित कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*