Wednesday , 26 February 2020
Top Headlines:
Home » Jaipur » पाठ्यक्रमों से नेहरू का नाम हटाने की निंदा

पाठ्यक्रमों से नेहरू का नाम हटाने की निंदा

Ashok-Gehlotजयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम से पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का नाम हटाये जाने के राज्य सरकार के फैसले को शर्मनाक बताते हुये इसकी निन्दा की है।
गहलोत ने रविवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि स्कूली पाठ्य पुस्तकों से इतिहास पुरूष राष्ट्र निर्माताओं का नाम हटाने वाली सरकारें खुद हट जाती हैं लेकिन इतिहास का सच नहीं मिटता। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की यह सोच संकीर्ण मानसिकता की परिचायक है और राज्य सरकार की इस साजिश को बेनकाब करने के लिये अभियान चलाया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि गोडसे की विचारधारा से प्रेरित होकर पंडित नेहरू का नाम पाठ्य पुस्तकों से हटाने से उनकी महानता को भुलाया नहीं जा सकेगा। उन्होंने कहा कि आधुनिक भारत के निर्माता एवं असहयोग आन्दोलन से भारत छोड़ो आन्दोलन तक दस साल अंग्रेजी हुकूमत की कैद काटने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी और दुनिया के सबसे बड़े भारतीय लोकतंत्र के संस्थापक प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का नाम स्कूली पाठ्य पुस्तकों से हटा देने का राजस्थान सरकार का कृत्य शर्मनाक है।
गौरतलब है कि राजस्थान बोर्ड की आठवीं कक्षा की किताब में नेहरू का नाम तो हटाया ही गया है साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे का नाम भी हटा दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*