Tuesday , 17 September 2019
Top Headlines:
Home » International » दुनिया की दुत्कार झेलने के बाद अब हिन्दुओं की शरण में इमरान

दुनिया की दुत्कार झेलने के बाद अब हिन्दुओं की शरण में इमरान

कश्मीर पर मांगेंगे समर्थन
उमरकोट (सिंध) (एजेंसी)। जम्मू एवं कश्मीर को मिले विशेष दर्जे को खत्म करने के भारत सरकार के फैसले से परेशान पाकिस्तान शासक अपनी बात उठाने के लिए हर तरह के पैंतरे का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी की ताजा कड़ी में प्रधानमंत्री इमरान खान ने तय किया है कि वह पाकिस्तान के हिंदू समुदाय व अन्य अल्पसंख्यक समुदायों की जनसभा को संबोधित करेंगे और उन्हें कश्मीर पर अपने रूख से अवगत कराएंगे। इसे अल्पसंख्यक समुदायों के साथ एकजुटता के रूप में प्रदर्शित किया जा रहा है।
बता दें कि अमेरिका, रूस, चीन जैसे देशों ने जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तान के किसी भी बयान को सुनने से मना कर दिया है। सभी देशों ने संदेश दे दिया है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मसला है। इस पर पाकिस्तान बेवजह हल्ला मचा रहा है।
‘रोजनामा पाकिस्तानÓ की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान सिंध में हिंदुओं की अच्छी आबादी वाले इलाके उमरकोट का 31 अगस्त को दौरा करेंगे और वहां एक जनसभा को संबोधित करेंगे।
रिपोर्ट में कहा गया है कि इमरान सिंध में बसने वाले हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के प्रति एकजुटता जताने के लिए 31 अगस्त को उमरकोट का दौरा करेंगे और वहां के प्रसिद्ध शिव महादेव मंदिर के करीब स्थित मैदान में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। इस सभा में हिंदु समुदाय के सदस्यों व अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के सदस्य बड़ी संख्या में हिस्सा लेंगे। इस जनसभा को विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी व अन्य संघीय मंत्री भी संबोधित करेंगे।
(शेष पेज 8 पर)पाकिस्तानी केबल ऑपरेटरों को चेतावनी
टीवी चैनलों पर भारतीय कंटेंट किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं
गुजरांवाला (एजेंसी)। कश्मीर पर भारत के फैसले से तिलमिलाए पाकिस्तान ने अपने यहां भारतीय फिल्मों, टीवी शो व अन्य भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण पर रोक लगा दी है। इस पर अमल के लिए पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण ने केबल ऑपरेटरों को चेतावनी दी है कि टीवी पर भारतीय कंटेंट को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ‘एक्सप्रेस न्यूजÓ की रिपोर्ट के मुताबिक, प्राधिकरण के चेयरमैन सलीम बेग ने गुजरांवाला स्थित प्राधिकरण के कार्यालय पर केबल ऑपरेटरों से मुलाकात की और उनसे कहा कि केबल पर भारतीय चैनल बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर कोई ऑपरेटर भारतीय चैनल (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*