Monday , 16 September 2019
Top Headlines:
Home » Political » ‘जीजा-साला दोनों भ्रष्टाचार में लिप्त’

‘जीजा-साला दोनों भ्रष्टाचार में लिप्त’

स्मृति का राहुल-वाड्रा पर हमलानई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर कांग्रेस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि 70 सालों में संस्थागत भ्रष्टाचार कांग्रेस की देन रही है, लेकिन पिछले 24 घंटों में समाचार माध्यमों से जो तथ्य आए हैं वो दर्शाते हैं कि कैसे गांधी-वाड्रा परिवार ने पारिवारिक भ्रष्टाचार को परिभाषित किया है।
संवाददाता सम्मेलन कर स्मृति ईरानी ने कहा कि एक समाचार सूत्र के माध्यम से जानकारी मिली है कि एच एल पाहवा नाम के एक व्यक्ति के यहां ईडी की रेड में उसके पास से राहुल गांधी के साथ लेनदेन के दस्तावेज मिले हैं। जमीन की खरीदारी से संबंधित इन दस्तावेजों से ये बात सामने आई कि पाहवा के साथ राहुल गांधी के आर्थिक संबंध हैं।
स्मृति ने कहा कि पाहवा के यहां हुई रेड में चौंकाने वाली बात ये है कि उनके पास जमीन की खरीद फरोख्त के लिए पैसे नहीं थे। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए जमीन खरीदने के लिए सीसी थंपी ने 50 करोड़ से ज्यादा रूपये दिए।
उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में रक्षा से संबंधित सौदे और पेट्रोलियम संबंधित सौदे में संजय भंडारी और सीसी थंपी के तार जुड़े हैं। इन सौदों की जांच में पता लगता है जीजा जी के साथ साले साहब भी पारिवारिक भ्रष्टाचार में शामिल हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि लोगो को लगता था कि जमीन घोटाले में रॉबर्ट वाड्रा की भूमिका है, लेकिन जो तथ्य सामने आए है उससे साफ हो गया है कि इस घोटाले में राहुल गांधी भी लिप्त है। यूरोफाइटर को रक्षा सौदा मिले, इसमें राहुल गांधी की निजी इच्छा थी, उनके इंटरेस्ट इसमें शामिल थे। भ्रष्टाचार में राहुल गांधी खुद शामिल थे। स्मृति ने राहुल गांधी से सवाल पूछते हुए कहा कि अब साले साहब खुद जनता को बताएं कि रक्षा सौदों में उनकी (राहुल गांधी) इतनी रूचि क्यों है, वो बताएं कि क्या देश की सुरक्षा को चंद रूपयों के लिए, जमीन के लिए, राहुल गांधी ने क्या शहीद करने का प्रयास किया?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*