Wednesday , 21 August 2019
Top Headlines:
Home » Rajasthan » ‘जाति के चलते कोविंद बने राष्ट्रपति’

‘जाति के चलते कोविंद बने राष्ट्रपति’

बाद में बोले गहलोत- मैं उनका सम्मान करता हूं
जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। लोकसभा चुनाव अभियान जैसे-जैसे गति पकड़ता जा रहा है, नेताओं की तीखी बयानबाजी भी बढ़ती जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्र.म. नरेंद्र मोदी और भाजपा ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति बनाया है। गहलोत ने कहा कि गुजरात में भाजपा चुनाव हार रही थी, प्र.म. घबरा चुके थे कि उनकी हार हो रही है। इसी के चलते जातिगत समीकरणों को ध्यान में रखते हुए वंचितों के नाम पर रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति बनाया गया।
उन्होंने कहा कि पहले लालकृष्ण आडवाणी के राष्ट्रपति बनने की चर्चा थी। लेकिन गुजरात चुनाव में हार देखते हुए आडवाणी को छोड़कर कोविंद को राष्ट्रपति बनाया गया। गहलोत ने कहा कि हालांकि यह मेरे विचार नहीं है, मैंने एक लेख पढ़ा था, जिसमें यह बात लिखी गई थी। गहलोत के इस बयान पर भाजपा ने आपत्ति जताई तो विवाद बढऩे की आशंका के चलते मुख्यमंत्री ने शाम को ट्वीट कर कहा कि मेरा बयान गलत ढंग से दिखाया गया है। गहलोत ने कहा कि मैं कोविंद का काफी सम्मान करता हूं और उनसे काफी प्रभावित हूं।
जयपुर में मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि भारत अकेला देश नहीं है, जिसने सर्जिकल स्ट्राइक की है। पाकिस्तान ने भी सर्जिकल स्ट्राइक की है, लेकिन उनकी ओर से कोई बयान नहीं दिया गया। हर प्रधानमंत्री के कार्यकाल में सर्जिकल स्ट्राइक हुई है। स्व. इंदिरा गांधी ने तो पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए थे, लेकिन कभी प्रचार नहीं किया और ना ही राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश की।
राज्य भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी ने गहलोत के बयान की निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता मर्यादाओं का उल्लंघन करते हुए संवैधानिक पदों का सम्मान करना भी भूल जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*