Sunday , 25 August 2019
Top Headlines:
Home » Jaipur » जजों को न कहें ‘माई लॉर्ड’, ‘योर लॉर्डशिप’

जजों को न कहें ‘माई लॉर्ड’, ‘योर लॉर्डशिप’

हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस
जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान हाई कोर्ट ने अदालतों में जजों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ‘माई लॉर्डÓ और ‘योर लॉर्डशिपÓ जैसे संबोधनों पर रोक लगाने की सलाह दी है। कोर्ट ने संविधान प्रदत्त समानता के अधिकार का हवाला देत हुए कहा है कि वकीलों और कोर्ट के सामने पेश होने वाले लोगों को ऐसे संबोधनों का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए। फुल कोर्ट की 14 जुलाई को हुई मीटिंग में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया।
हाई कोर्ट ने जारी की नोटिस : हाई कोर्ट ने एक नोटिस जारी कर इसकी जानकारी दी है। सोमवार को जारी नोटिस में राजस्थान हाई कोर्ट ने कहा कि संविधान में वर्णित समानता के अधिकार का सम्मान करते हुए कोर्ट वकीलों और अदालत के सामने पेश होने वाले लोगों से यह आग्रह करती है कि वे माननीय न्यायाधीशों को ‘माई लॉर्डÓ और ‘योर लॉर्डशिपÓ जैसे संबोधनों से अड्रेस करना बंद कर दें।
सुप्रीम कोर्ट भी कर चुका है टिप्पणी : गौरतलब है कि देश में यह पहला ऐसा मौका है जब किसी कोर्ट ने जजों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ऐसे संबोधनों को खत्म करने का फैसला किया है। हालांकि, इससे पहले भी साल 2014 में (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*