Sunday , 25 August 2019
Top Headlines:
Home » Technology » ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग रूकी

‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग रूकी

पर इसरो की हो रही चौतरफा तारीफ
नई दिल्ली (एजेंसी)। समूचे देशवासी सोमवार तड़के 2.51 बजने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे तभी करीब एक घंटे पहले चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग टलने की खबर आई। दरअसल, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने प्रक्षेपण को तकनीकी खामी की वजह से टालने का फैसला किया। लॉन्चिंग देखने आए लोगों को इससे भले ही निराशा हाथ लगी हो पर इसरो की सक्रियता और सही समय पर फैसला लेने की जमकर तारीफ हो रही है।
इसरो ने अपने ‘बाहुबलीÓ रॉकेट में तकनीकी खामी का पता सोमवार तड़के प्रक्षेपण से एक घंटा पहले लगा लिया। सोशल मीडिया पर लोगों ने इसरो की प्रशंसा करते हुए कहा है कि ‘कभी नहींÓ से बेहतर ‘कुछ समय का विलंबÓ होता है। लॉन्चिंग की नई तारीख जल्द घोषित की जाएगी। बता दें कि कुल 978 करोड़ रूपये की लागत वाले चंद्रयान-2 का उद्देश्य भारत को चंद्रमा की सतह पर उतरने और उस पर चलने वाले देशों में शामिल करना है।
इसरो की सूझबूझ और सक्रियता की वैज्ञानिक भी तारीफ कर रहे हैं। सोमवार को कई अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने कहा कि जल्दबाजी में मिशन को संकट में डालने से अच्छा था कि भारत के दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 को टाल दिया जाए और इसके लिए स्पेस एजेंसी की प्रशंसा की जानी चाहिए। यह मिशन इसरो का अब तक का सबसे जटिल और प्रतिष्ठित मिशन माना जा रहा है।
इसरो के असोसिएट डायरेक्टर (पीआर) बीआर गुरूप्रसाद ने श्रीहरिकोटा में कहा, लॉन्च वीकल सिस्टम में 56 मिनट पहले एक तकनीकी खामी का पता चला। ऐहतियात बरतते हुए चंद्रयान 2 का लॉन्च आज के लिए स्थगित किया जा रहा है। उन्होंने यह नहीं बताया कि खामी कैसी और क्या थी।
कोलकाता के इंडियन इस्टिट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन ऐंड रिसर्च में सेंटर फॉर एक्सिलेंस इन स्पेस साइंसेज के हेड राजेश कुंबले नायक ने कहा, लॉन्चिंग सिस्टम को लेकर इसरो की सफलता दर शानदार रही है। (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*