Sunday , 20 October 2019
Top Headlines:
Home » Sports » घर लौटी साक्षी का भव्य स्वागत

घर लौटी साक्षी का भव्य स्वागत

sakshi_welcomeनयी दिल्ली। भारत को रियो ओलंपिक खेलों का पहला पदक दिलवाने वाली महिला पहलवान और कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक बुधवार को स्वदेश लौट आईं जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। वहीं हरियाणा सरकार ने महिला खिलाड़ी को नगद पुरस्कार देने के साथ ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का ब्रांड एम्बेसेडर नियुक्त किया है।
साक्षी जब इंदिरा गांधी हवाईअड्डे पर पहुंची तो वहां बड़ी संख्या में मौजूद लोगों ने उनका फूल मालाएं पहनाकर जमकर स्वागत किया। साक्षी ने यहां पत्रकारों से कहा, पूरे ङ्क्षहदुस्तान ने मेरा साथ दिया और जिस तरह का स्वागत मेरा हुआ है मैं उसे देखकर हैरान हूं और बहुत ही खुश हूं। मैं सभी की आभारी हूं।
इसके बाद बहादुरगढ़ में साक्षी के सम्मान में एक खास कार्यक्रम आयोजित किया गया जहां हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने महिला पहलवान को ढाई करोड़ रूपये का चेक वितरित किया। इस दौरान राज्य सरकार के खेल मंत्री अनिल विज भी साक्षी के साथ मौजूद थे।
इसी दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री ने साक्षी को राज्य में ”बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओÓÓ अभियान का ब्रांड एम्बेसेडर भी नियुक्त किया। उन्होंने कहा, साक्षी राज्य में इस अभियान का चेहरा होंगी।
साक्षी ने महिलाओं के 58 किग्रा भार वर्ग कुश्ती में रेपचेज राउंड में कांस्य पदक जीता था जो रियो ओलंपिक खेलों में भारत को मिला पहला पदक था। इसके बाद बैडङ्क्षमटन में पीवी ङ्क्षसधू ने रजत पदक जीता और 118 सदस्यीय भारतीय दल मात्र इन दो महिलाओं के पदक के साथ ही स्वदेश लौट सका।
ओलंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली महिला पहलवान बनीं साक्षी ने कहा, मैंने ओलंपिक और उसमें पदक जीतने का सपना देखा था लेकिन कभी नहीं सोचा था कि मैं ध्वजवाहक बनूंगी। मेरा वह सपना भी सच हो गया। मेरे लिये यह बड़े सम्मान की बात है। साक्षी को समापन समारोह में ध्वजवाहक बनाया गया था। साक्षी ने कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के अन्य पहलवानों की भी प्रशंसा की। उन्होंने गीता फोगाट, सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त को उनकी सफलता में योगदान देने के लिये धन्यवाद देते हुये कहा, गीता ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली पहली महिला पहलवान थीं और उन्होंने मुझे बहुत प्रेरित किया। उन्होंने मेरे अंदर उम्मीद जगाई कि मैं भी ओलंपिक जा सकती हूं। उन्होंने भी मेरी जीत में भूमिका निभाई है।
साक्षी को उनकी इस उपलब्धि के लिये राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिये भी चुना गया है। उन्हें 29 अगस्त को राष्ट्रपति भवन में अन्य खिलाडिय़ों के साथ सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा, मैं खेल रत्न मिलने को लेकर बहुत खुश हूं। दिल्ली में लोग घंटों से ढोल नगाड़ों, फूल मालाओं और गुलदस्ते के साथ देश का नाम ऊंचा करने वाली इस बेटी का इंतजार कर रहे थे। साक्षी का पूरा परिवार उन्हें लेने आया था । सुबह करीब 4 बजे जब साक्षी एयरपोर्ट से बाहर आई तो यहां मौजूद हर व्यक्ति उनकी एक झलक पाने को बेताब दिखा। सुरक्षा के कड़े घेरे में साक्षी को एयरपोर्ट से निकाला गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*