Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Sports » घरेलू मैदान पर टीम इंडिया ने लगाया सीरीज जीतने का छक्का

घरेलू मैदान पर टीम इंडिया ने लगाया सीरीज जीतने का छक्का

विंडीज को 3-1 से हराया
भारत ने 5वें और अंतिम वनडे मैच में वेस्टइंडीज को 9 विकेट से हराया
तिरूवनंतपुरम। लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा (34 रन पर 4 विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन और उपकप्तान रोहित शर्मा (नाबाद 63) के ताबड़तोड़ अर्धशतक से भारत ने ङ्क्षवडीज को पांचवें और अंतिम वनडे में गुरूवार को 9 विकेट से पीटकर पांच मैचों की सीरीज 3-1 से जीत ली। भारत की घरेलू जमीन पर यह लगातार छठी सीरीज जीत है।
भारत ने ङ्क्षवडीज को 31.5 ओवर में मात्र 104 रन पर ढेर करने के बाद 14.5 ओवर में एक विकेट खोकर 105 रन बनाते हुए बेहद एकतरफा अंदाज में मैच को निपटा दिया। पूरा मैच एक सत्र के अंदर समाप्त हो गया और 50 ओवर भी नहीं फेंके गए। कप्तान विराट कोहली 33 रन पर नाबाद रहे।
भारत की इस जबरदस्त जीत का श्रेय जाता है गेंदबाजों को जिन्होंने ङ्क्षवडीज के बल्लेबाजों को विकेट पर टिकने का कोई मौका नहीं दिया। जडेजा ने 9.5 ओवर में 34 रन पर 4 विकेट, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 6 ओवर में 11 रन पर 2 विकेट, बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद ने सात ओवर में 29 रन पर 2 विकेट, भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 11 रन पर एक विकेट और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने पांच ओवर में 18 रन पर एक विकेट लेकर ङ्क्षवडीज का बंटाधार कर दिया।
सीरीज के पहले तीन मैचों में बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने वाली कैरेबियाई टीम आश्चर्यजनक रूप से अंतिम दो मैचों में ढेर हो गयी। ङ्क्षवडीज का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला उसके लिए आत्मघाती साबित हुआ। भारतीय गेंदबाजों ने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाते हुए कहर बरपा दिया।
भुवनेश्वर ने दूसरे ओवर में कीरन पॉवेल को खाता खोलने का मौका नहीं दिया। बुमराह ने शायी होप को तीसरे ओवर में बोल्ड कर दिया। होप भी खाता नहीं खोल सके। मार्लोन सैमुअल्स ने 38 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 24 रन बनाये लेकिन जडेजा ने उन्हें विराट कोहली के हाथों कैच कराकर ङ्क्षवडीज को तीसरा झटका दे दिया।
शिमरोन हेत्माएर नौ रन बनाकर जडेजा का दूसरा शिकार बने। कप्तान जैसन होल्डर ने पिछले मैच की तरह इस मैच में भी एकतरफा संघर्ष करते हुए 33 गेंदों में दो चौकों की मदद से सर्वाधिक 25 रन बनाये लेकिन दूसरे छोर से विकेट बारिश की बूंदों की तरह गिरते रहे और पूरी पारी 104 रन पर सिमट गयी।
दहाई की संख्या में पहुंचने वाले एक अन्य बल्लेबाज ओपनर रोवमैन पॉवेल रहे जिन्होंने 39 गेंदों में 16 रन बनाये। ङ्क्षवडीज ने अपने आखिरी सात विकेट मात्र 51 रन जोड़कर गंवाए। जडेजा ने निचले क्रम में दो विकेट चटकाए। (शेष पेज 8 पर)
लक्ष्य ऐसा नहीं था कि भारत को कोई परेशानी हो पाती। ओपनर शिखर धवन जरूर छह रन बनाकर ओशने की गेंद पर बोल्ड हुए लेकिन इसके बाद भारत के दो सबसे बड़े बल्लेबाजों ने लक्ष्य को बेहद छोटा बना दिया। उपकप्तान रोहित और कप्तान विराट कोहली ने मनमाने अंदाज में रन बटोरते हुए ङ्क्षवडीज को शर्मिंदगी झेलने के लिए मजबूर कर दिया।
रोहित ने 56 गेंदों में पांच चौके और चार छक्के उड़ाते हुए नाबाद 63 रन ठोके। रोहित ने अपनी पारी के दौरान 2018 में अपने 1000 रन भी पूरे कर लिए। रोहित ने दो छक्के लगाने के साथ वनडे में 200 छक्के पूरे कर लिए और यह उपलब्धि हासिल करने वाले सातवें बल्लेबाज बन गए।
उपकप्तान ने अपने कप्तान विराट के साथ दूसरे विकेट की अविजित साझेदारी में 79 गेंदों में 99 रन जोड़े। विराट 29 गेंदों में छह चौकों की मदद से 33 रन बनाकर नाबाद रहे और इसके साथ ही उन्होंने सीरीज में 450 रन भी पूरे कर लिए।
भारत ने इससे पहले घरेलू जमीन पर न्यूजीलैंड को 3-2, इंग्लैंड को 2-1, ऑस्ट्रेलिया को 4-1, न्यूजीलैंड को 2-1 और श्रीलंका को 2-1 से हराया था।
भारत ने इस सीरीज का पहला मैच जीता, दूसरा टाई रहा, तीसरा गंवाया लेकिन फिर जबरदस्त वापसी करते हुए चौथा और पांचवां मैच जीत लिया। ङ्क्षवडीज की टीम भारत में पिछले 12 वर्षों में कोई सीरीज नहीं जीत पायी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.