Monday , 16 December 2019
Top Headlines:
Home » International » ‘कश्मीर पर अगर वार्ता हुई तो सिर्फ पाकिस्तान से’

‘कश्मीर पर अगर वार्ता हुई तो सिर्फ पाकिस्तान से’

मध्यस्थता की रट पर भारत ने अमेरिका से दो टूक कहा-
नई दिल्ली (एजेंसी)। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप द्वारा कश्मीर पर मध्यस्थता का ऑफर देने के बाद शुक्रवार को जब पहली बार भारत और अमेरिका के विदेश मंत्री आमने-सामने बैठे तो इसका भी जिक्र हुआ। इस दौरान भारत ने अमेरिका से दो टूक कह दिया कि कश्मीर पर बातचीत की अगर जरूरत पड़ी तो यह केवल पाकिस्तान से होगी और सिर्फ द्विपक्षीय होगी। विदेश मंत्री एस. जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के बीच वार्ता थाइलैंड की राजधानी बैंकॉक में हुई। जयशंकर यहां आसियान-भारत मंत्रिस्तरीय बैठक, नौवें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में विदेश मंत्रियों की बैठक, 26वें आसियान क्षेत्रीय मंच समेत कई बैठकों में शामिल होने के लिए पहुंचे हैं।
यहां आसियान से इतर द्विपक्षीय वार्ता के दौरान विदेश मंत्री जयशंकर ने कश्मीर पर भारत के रूख को एक बार फिर स्पष्ट किया। जयशंकर ने ट्वीट किया, (अमेरिका के विदेश मंत्री) पोम्पियो से क्षेत्रीय मामलों पर विस्तृत वार्ता हुई। अमेरिकी समकक्ष पोम्पियो को आज सुबह स्पष्ट रूप से यह बता दिया गया कि यदि कश्मीर पर किसी वार्ता की (शेष पेज 8 पर)अब ट्रंप बोले, भारत चाहे तो..
ट्रंप ने अब अपने पुराने बयान को ट्विस्ट करते हुए कहा कि यह पूरी तरह से भारत और पाकिस्तान पर निर्भर करता है कि वह कश्मीर मामले के समाधान के लिए किसी की मदद लेना चाहते हैं या नहीं। आगे उन्होंने कहा कि अगर दोनों पड़ोसी देश पुराने मामले को निपटाने के लिए उनकी मदद लेना चाहते हैं तो वह तैयार हैं। ट्रंप ने पाकिस्तान के प्र.म. इमरान खान के साथ हाल की मुलाकात को लेकर कहा कि इस मसले पर दोनों देशों के बीच बात हुई है। ट्रंप से भारत द्वारा कश्मीर पर मध्यस्थता के प्रस्ताव को ठुकराने पर जब सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, यह पूरी तरह प्र.म. मोदी का फैसला होगा (कश्मीर पर मध्यस्थता को स्वीकार करना है या नहीं)।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*