Friday , 19 April 2019
Top Headlines:
Home » Udaipur » कटारिया की सहमति के बाद अर्जुनलाल मीणा को टिकट

कटारिया की सहमति के बाद अर्जुनलाल मीणा को टिकट

सांसद के लिए मीणा से अच्छा और चर्चित चेहरा उदयपुर में भाजपा के पास नहीं है
12 दिसम्बर को विधानसभा चुनाव में जीत के बाद ही कटारिया ने दे दिया था संकेत
नगर संवाददाता & उदयपुर
भाजपा ने अपने लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की लिस्ट घोषित कर ही दी। जिसमें उदयपुर लोकसभा सीट से भाजपा ने एक बार फिर से अर्जुनलाल मीणा को मौका दिया गया है। इसमें कटारिया की पूरी-पूरी सहमति थी। इसके साथ ही संगठन के लिए उदयपुर सीट से अर्जुनलाल जैसा चर्चित चेहरा भी नहीं था, जिसकी सीधी पकड़ हो। हालांकि कटारिया पहले ही यह कह चुके है उदयपुर और चित्तौड़ में किसी तरह की कोई समस्या नहीं है।
जानकारी के अनुसार धुलेण्डी की शाम को भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व ने लोकसभा टिकटों की पहली लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में उदयपुर लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद अर्जुनलाल मीणा पर संगठन ने भरोसा जताते हुए पुन: प्रत्याशी बनाया है। यह पहले से ही तय माना जा रहा था कि अर्जुनलान मीणा ही उदयपुर लोकसभा से प्रत्याशी बनेंगे। भाजपा के वरिष्ठ नेता गुलाबचंद कटारिया ने इसके संकेत तीन माह पूर्व ही चुके थे। जानकारी के अनुसार 11 दिसम्बर को विधानसभा चुनाव में कटारिया के जीतने के बाद कटारिया को रैली के रूप में कार्यकर्ता और पदाधिकारी पटेल सर्कल लेकर आए थे। जहां पर कटारिया ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा था कि अब सभी को लोकसभा चुनाव में जुटना होगा। कटारिया ने उस दौरान स्पष्ट रूप से कहा कि उदयपुर, चित्तौड़ और राजसमंद से किसी तरह की कोई चिंता की बात नहीं है। इन क्षेत्रों में काफी काम हुआ है। कटारिया ने स्पष्ट किया था कि केवल डूंगरपुर-बांसवाड़ा सीट पर ही पेच फंसा हुआ था। इस तरह से कटारिया ने 11 दिसम्बर को ही यह संकेत दे दिए थे कि इस बार भी लोकसभा चुनाव में अर्जुनलाल मीणा को ही प्रत्याशी बनाया जाएगा।
कटारिया ने तीन माह पूर्व ही सांसद अर्जुनलाल मीणा के कामों पर संतोष जताया था और यह तय कर दिया था कि अर्जुन को ही मौका मिलेगा। हालांकि लोकसभा सीट से भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष चुन्नीलाल गरासिया और नरेन्द्र मीणा भी दावेदारी कर रहे थे, परन्तु संगठन ने इसे सुरक्षित सीट समझते हुए इन दोनों की दावेदारी को खारिज कर दिया। संगठन को अर्जुनलाल मीणा से अच्छा सीधा और सरल व्यक्तित्त वाला कोई नहीं मिला था। अर्जुनलाल की लोकसभा में अच्छी खासी पकड़ थी और इसी कारण अर्जुनलाल मीणा को पुन: रिपीट किया गया। अर्जुनलाल भी कई समय से टिकट के लिए भागादौड़ी कर रहे थे और संगठन ने उदयपुर सीट की महत्वता को समझा और मीणा के विकास कामों और आम जनता तक आसानी से पहुंच को देखते हुए टिकट दे दिया। धुलेण्डी की शाम को टिकट की घोषणा होने के बाद से ही मीणा के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई। हालांकि मीणा ने अपने सभी समर्थकों और भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को काम में जुटने के लिए कहा ताकि चुनाव में पुन: नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाया जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.