Wednesday , 20 November 2019
Top Headlines:
Home » Sports » ‘कंगारूओं ने भड़काया तो जवाब मिलेगा’

‘कंगारूओं ने भड़काया तो जवाब मिलेगा’

आस्ट्रेलिया दौरे पर रवाना होने से पहले कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री बोले
मुंबई। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने वादा किया है कि वह आस्ट्रेलिया दौरे में खुद पर पूरी तरह काबू रखेंगे लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि यदि कंगारूओं ने मैदान पर स्लेङ्क्षजग करने की जरा भी कोशिश की तो उन्हें उनकी जुबां में जवाब दिया जाएगा।
विराट ने कोच रवि शास्त्री के साथ आस्ट्रेलिया दौरे पर रवाना होने से पूर्व गुरूवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में सख्त शब्दों में यह बात कही। भारत और आस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की ट््वंटी 20 सीरीज 21 नवंबर से शुरू हो रही है जिसके बाद छह दिसंबर से चार टेस्टों की सीरीज खेली जाएगी। तीन वनडे मुकाबले जनवरी में होंगे।
भारत और आस्ट्रेलिया के बीच मैदान पर जबरदस्त कहासुनी का इतिहास रहा है। पिछली दो सीरीज तो खासतौर पर इन बातों के लिये मशहूर रही। पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ के बेंगलुरू टेस्ट में डीआरएस की मदद लेने के लिये ड्रैङ्क्षसग रूम की ओर देखने और फिर ब्रेन डैड के लिये माफी मांगने को लेकर काफी विवाद रहा। भारतीय कप्तान विराट ने भी कहा था कि यह कोई पहली बार नहीं है कि स्मिथ ने धोखाधड़ी करने की कोशिश की है।
चार मैचों की सीरीज के बाद विराट और कई आस्ट्रेलियाई खिलाडिय़ों के संबंध में खटास आ गयी थी। इसी संदर्भ में पूछे जाने पर विराट ने कहा, मैदान पर जब भी किसी बात पर बहस को लेकर कोई मुद्दा उठता है तो मेरी कोशिश यही रहती है कि मैं इसमें न उलझूं। मुझे अपनी क्षमताओं पर पूरा विश्वास है। वे अपरिपक्व चीजें थीं जो मैं किया करता था लेकिन तब मैं अधिक युवा था। अब टीम का कप्तान होने के नाते आपके पास इन सब बातों को सोचने के लिये समय नहीं है। आपको अपनी टीम पर ध्यान देना है।
भारतीय कप्तान ने दावा किया कि टीम इंडिया कभी स्लेङ्क्षजग शुरू नहीं करती है और उनके खिलाड़ी तभी जवाब देते हैं जब उन्हें भड़काया जाता है। उन्होंने कहा,Þ जब तक कुछ शुरू नहीं किया जाता है तब तक हम शांति के साथ खेलते हैं। लेकिन यदि विपक्षी टीम कुछ भी भड़काने जैसा काम करती है तो हम पीछे नहीं हटते हैं।
विराट ने साथ ही कहा, टीम प्रबंधन के लिहाज से मैं जानता हूं कि टीम को बताया जाता है कि उसकी असल जरूरत क्या है। हमारे दिमाग में सिर्फ प्रतिस्पर्धा की भावना रहती है और हम अपना ध्यान भटकने नहीं देना चाहते।
भारतीय कप्तान को जुबानी जंग को छोड़कर इन बातों पर भी ध्यान देना है कि टीम इंडिया ने पिछले दो विदेशी दौरों दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज गंवाई है। हालांकि खुद विराट का प्रदर्शन इन सीरीज में बेहतर रहा है। विराट अब चाहते हैं कि उनके बल्लेबाज विदेशी जमीन पर ज्यादा बेहतर प्रदर्शन करें क्योंकि अब गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी अच्छा हो गया है। विराट अपने खिलाडिय़ों के फिटनेस स्तर से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि चार वर्ष पहले आस्ट्रेलिया का दौरा करने वाली भारतीय टीम और मौजूदा उनकी टीम में काफी अंतर है। यह बात इस तथ्य से भी सामने आती है कि विराट खुद फिटनेस को लेकर कोई समझौता नहीं करना चाहते हैं।
उन्होंने कहा, हमारा फिटनेस स्तर काफी ऊंचा हो गया है जो आस्ट्रेलियाई दौरे में काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। हमारे गेंदबाज इस समय लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और यह बात इंग्लैंड दौरे में सामने आयी थी। बल्लेबाजों को ही अपना फोकस सुधारना होगा और टीम के लिये रन बनाने होंगे।वल्र्ड कप से पहले टीम में ज्यादा बदलाव नहीं: शास्त्रीमुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री ने गुरूवार को कहा कि चूंकि अब वल्र्ड कप शुरू होने से पहले भारत को सिर्फ 13 मैच खेलने हैं इसलिए एकदिवसीय टीम में ज्यादा बदलाव नहीं होंगे। भारत को अगले साल इंग्लैंड में होने वाले वल्र्ड कप में अपना पहला मैच 5 जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ
खेलना है।
शास्त्री ने इशारा किया कि अब से टीम में वही 15 खिलाड़ी खेलेंगे जिनका इंग्लैंड जाना लगभग पक्का होगा। शास्त्री ने गुरूवार को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर रवाना होने से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, अब समय आ गया है कि हम एकाग्र होकर एक यूनिट के रूप में साथ खेलें। हम यह भी उम्मीद करेंगे कि कोई चोटिल न हों ताकि हमें विकल्प के लिए कहीं और देखना पड़े। अब हमारे पास ज्यादा मैच नहीं बचे हैं। हमारे पास सिर्फ 13 मैच हैं और हमें हर बार अपनी बेस्ट टीम के साथ खेलना होगा।
भारत के बचे 13 मैचों में से 3 मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैं और इसके बाद न्यूजीलैंड में पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है। इसके बाद अगले साल की शुरूआत में ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत में पांच मैचों की सीरीज खेलनी है।
भारत ने ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है जिसकी शुरूआत 6 दिसंबर से ऐडिलेड में होगी। इसके बारे में शास्त्री ने कहा कि भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड में मिले अनुभव से सबक लेते हुए ऑस्ट्रेलिया को चुनौती देनी होगी। उन्होंने कहा, मुझे हर प्रारूप में प्रगति नजर आती है और मुझे लगता है कि इंग्लैंड में स्कोरलाइन के बाद भी अगर आप असली प्रदर्शन को देखें तो उन विपरीत परिस्थितियों में हम अपने प्रदर्शन से काफी खुश हैं।
शास्त्री ने उम्मीद जताई कि खिलाड़ी अपने पिछले प्रदर्शन से सबक लेंगे। उन्होंने कहा, यह सीखने की प्रक्रिया है। अगर हमने साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड की अपनी गलतियों से सीखेंगे तो ऑस्ट्रेलिया में हमारा प्रदर्शन अच्छा रहेगा।
भारतीय कोच ने कहा कि बेशक टेस्ट क्रिकेट अलग होता है यह वल्र्ड कप से पहले हमारी आखिरी टेस्ट सीरीज होगी तो हमारा पूरा ध्यान इसी सीरीज पर होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*