Wednesday , 20 November 2019
Top Headlines:
Home » India » New Delhi » ईमानदार कंज्यूमर को मिलेगी 24 घंटे बिजली

ईमानदार कंज्यूमर को मिलेगी 24 घंटे बिजली

नई दिल्ली (एजेंसी)। अब बिजली चोरी वाले इलाकों में ज्यादा कटौती होगी। लेकिन ईमानदारी से बिजली इस्तेमाल करने वालों को 24 घंटे सप्लाई होगी। मोदी सरकार ईमानदार बिजली कंज्यूमर के लिए नई स्कीम ला रही है। इसके तहत ईमानदार कंज्यूमर को अब 24 घंटे बिजली मिलेगी। केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर ऐसी प्लानिंग तैयार कर रही है जिसके तहत वैसे एरिया जहां बिजली की चोरी नहीं होती है वहां 24 घंटे बिजली की सप्लाई की जा सके।
इस आधार पर तैयार हुई योजना : सूत्रों के मुताबिक बिजली वितरण घाटा के आधार पर ये योजना तैयार की गई है। जिसके लिए एरिया के आधार पर बिजली घाटे की जानकारी मांगी गई है। इस योजना के तहत 15′ से कम घाटा वाले एरिया में 24 घंटे सप्लाई संभव है। इस योजना में घाटा वाले इलाके में कंज्यूमर को बिल चुकाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इन इलाकों में स्मार्ट मीटर लगाने की भी योजना है। ये योजना पावर रिफॉर्म 2.0 का हिस्सा होगी। बता दें कि चुनाव से पहले सरकार ने कंपनियों से इस बारे में जानकारी मांगी थी। अभी 19 राज्यों में बिजली विरतण घाटा 15′ से ज्यादा है।
दिन में तीन तरह के हो सकते हैं बिजली के टैरिफ : केंद्र की मोदी सरकार बिजली सप्लाई को बेहतर कर ग्राहकों को बड़े बिजली कट से बचाने के लिए बड़े कदम (शेष पेज 8 पर)बिल नहीं तो यात्रियों को मुफ्त मिलेगा सामाननई दिल्ली (एजेंसी)। रेल मंत्रालय ने यात्रियों के हित में एक बड़ा फैसला किया है। रेलवे ने ‘नो बिल, नो पेमेंटÓ की नीति गुरूवार को पूरी तरह से सभी स्टेशनों और ट्रेनों में लागू कर दी है। इसके तहत स्टेशन या ट्रेन में सामान बेचने वाला कोई वेंडर आपको बिल नहीं देता है, तो खरीदा गया सामान पूरी तरह मुफ्त होगा।
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस योजना को समझाते हुए एक विडियो शेयर किया, जिसके जरिए बेहद आसान तरीके से इस नियम को समझाया गया है। रेल मंत्री ने लिखा, रेलवे द्वारा नो बिल, नो पेमेंट की नीति अपनाते हुए विक्रेताओं द्वारा ग्राहकों को बिल देना अनिवार्य किया गया है। ट्रेन अथवा रेलवे प्लैटफॉर्म पर यदि कोई विक्रेता आपको बिल देने से इंकार करता है तो आपको उसे पैसे देने की आवश्यकता नहीं है। बता दें कि आए दिन रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में वेंडरों की मनमानी की शिकायतें मिलती थीं। (शेष पेज 8 पर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*