Saturday , 19 October 2019
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » इस बार भी बहुमत हासिल करेगा एनडीए!

इस बार भी बहुमत हासिल करेगा एनडीए!

नई दिल्ली (एजेंसी)। लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से पहले सामने आए 4 ऑपिनियन पोल्स के औसत नतीजे बताते हैं कि सत्तारूढ़ राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) इस बार भी बहुमत हासिल कर सकता है। गौर करने वाली बात यह है कि नौकरियों और कृषि मूल्यों की तुलना में इस बार फोकस राष्ट्रीय सुरक्षा पर है। महापोल के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी की अगुआई वाला गठबंधन संसद की 543 सीटों में से 273 सीटें जीत सकता है, जो सरकार बनाने के लिए जरूरी जादुई आंकड़े से एक ज्यादा है। पिछले चुनाव में इस अलायंस को 330 से ज्यादा सीटें मिली थीं, जो तीन दशकों में मिला सबसे बड़ा जनादेश था। अनुमान : सीवोटर का सबसे कम, टाइम्स नाउ का सबसे ज्यादा सीवोटर का पोल सबसे कंजर्वेटिव है, जिसने सत्तारूढ़ एनडीए गठबंधन को 267 सीटें मिलने की संभावना जताई है। वहीं, टाइम्स नाउ-वीएमआर के सर्वे ने सबसे ज्यादा 279 सीटें जीतने की बात कही है। महापोल को देखें तो मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस और उसके सहयोगियों की सीटें बढ़कर औसत रूप से 141 हो सकती हैं। एजेंसी का नाम एनडीए यूपीए अन्य पार्टियां
सी-वोटर 267 142 134
इंडिया टीवी-सीएनएक्स 275 147 121
सीएसडीएस-लोकनीति 263-283 115-135 130-160
(273) (125) (145)
टाइम्स नाउ-वीएमआर 279 149 115
पोल ऑफ पोल्स 273 141 129पुलवामा आतंकी हमला
और पाकिस्तान कांग्रेस का भाजपा पर
आरोपपिछले चार दिनों में सर्वे जारी करने वाली ज्यादातर पोलिंग एजेंसियों का कहना है कि फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने के बाद पाकिस्तान से बढ़े तनाव से मोदी का जनाधार काफी बढ़ा है। सी वोटर ने एक बयान में कहा, आज के भारत में हमने शायद पहली बार बेरोजगारी जैसे मुद्दों के आगे सुरक्षा के मसले को हावी होते देखा है। एजेंसी ने कहा कि आजीविका और आर्थिक हितों के संदर्भ में भाजपा खुद को लोगों की नजर में कांग्रेस से बेहतर और अलग साबित नहीं कर पा रही है। हालांकि आतंकवाद पर अंकुश लगाने और उसका जवाब देने की जब बात आती है तो वही प्रतिभागी स्पष्ट तौर पर अंतर महसूस करते हैं। बता दें कि 1.3 अरब की आबादी वाले देश में चुनाव पूर्व हुए ऑपिनियन पोल्स में हजारों लोगों की राय ली जाती है और इससे पहले कई बार ये अविश्वसनीय भी साबित हो चुके हैं। इस बार 90 करोड़ लोग वोट देने के योग्य हैं। कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह पाकिस्तान पर जवाबी एयर स्ट्राइक का राजनीतिक हथकंडे के तौर पर इस्तेमाल कर रही है। इसकी बजाय मुख्य विपक्षी पार्टी ने नौकरियों, किसानों की समस्या, महिलाओं के सशक्तीकरण जैसे कई मसलों को प्राथमिकता से उठाया है। हालांकि भाजपा राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर जोर-शोर से आगे बढ़ रही है। पार्टी ने सोमवार को जारी किए गए अपने संकल्प पत्र में वादा किया है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को दशकों से मिल रहे विशेषाधिकार को वह खत्म करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*