Friday , 16 November 2018
Top Headlines:
Home » Hot on The Web » ‘इमरान का असली चेहरा उजागर’

‘इमरान का असली चेहरा उजागर’

भारत ने रद्द की विदेश मंत्रियों की बैठक
नयी दिल्ली । भारत ने पाकिस्तान के साथ न्यूयार्क में होने वाली विदेश मंत्री स्तर की वार्ता को रद्द करने की घोषणा की है।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरूवार को कहा था कि पाकिस्तान के अनुरोध पर दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच इसी माह संयुक्त राष्ट्र महासभा अधिवेशन के इतर न्यूयार्क में बैठक होगी। लेकिन उन्होंने शुक्रवार को घोषणा की कि पाकिस्तान के नापाक इरादों को देखते हुए भारत ने यह बैठक रद्द करने का निर्णय लिया है। प्रवक्ता ने कहा कि गुरूवार को की गई घोषणा के बाद दो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं सामने आई हैं। एक तो हमारे सुरक्षाकर्मियों की बर्बर हत्या की गयी और दूसरे पाकिस्तान ने आतंकवादियों को गौरान्वित करने के लिए उन पर 30 डाक टिकट जारी किये हैं। इससे वार्ता के पीछे उसके नापाक इरादे सामने आ गये हैं और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का असली चेहरा भी सामने आ गया है। उनकी कथनी और करनी में भारी अंतर है।
कुमार ने कहा कि अब न्यूयार्क में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच कोई मुलाकात नहीं होगी।
भारत की यह नाराजगी बीएसएफ के जवान नरेन्द्र की गला रेतकर निर्मम हत्या और पाकिस्तान में कुछ आतंकियों को रिहा किए जाने को मुद्दा बनाया है। भारत ने साफ कहा है कि सीमा पर गोली और बोली दोनों एक साथ नहीं चल सकती हैं। उच्चपदस्थ सूत्र बताते हैं कि यह निर्णय भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ही लिया है। भारत का स्पष्ट कहना है कि पाकिस्तान को किसी तरह की शांति वार्ता प्रक्रिया के पहले आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई का कदम उठाना चाहिए। यह भरोसा होने के बाद ही भारत शांति वार्ता, मंत्री स्तरीय वार्ता आदि पर आगे बढ़ सकता है।
ऐसा नहीं है कि भारत ने पहली बार वार्ता प्रक्रिया को रद्द किया है। इससे पहले 25 अगस्त 2014 को इस्लामाबाद में विदेश सचिव स्तरीय वार्ता होनी थी और भारत ने जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेताओं से पाकिस्तान के उच्चायुक्त की भेंट पर नाराज जताते हुए वार्ता प्रक्रिया को रद्द कर दिया था। इसके बाद अगले साल विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की हार्ट ऑफ एशिया की बैठक से इतर पाकिस्तान के विदेश मंत्री सरताज अजीज से चर्चा हुई थी। इस चर्चा में वार्ता प्रक्रिया की बहाली का रोडमैप आगे बढ़ाने का निर्णय लिया गया था। इसे प्रधानमंत्री मोदी की सलाह पर आगे बढ़ाया गया, लेकिन पठानकोट वायुसैनिक हवाई अड्डे पर आतंकी हमले के बाद भारत ने इससे भी हाथ खींच लिए थे।
इससे पहले भारत और पाकिस्तान की मुलाकात की खबर को पाकिस्तान ने भी ”शानदारÓÓ बताया था। अमेरिका ने उम्मीद जताई थी कि इससे भविष्य में दोनों पड़ोसी देशों के बीच अच्छे और मजबूत संबंध का मार्ग प्रशस्त होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.